?>

दुश्मन को ज़ख्म पर नमक छिड़कने की अनुमति नहीं देंगेः ईरान

 दुश्मन को ज़ख्म पर नमक छिड़कने की अनुमति नहीं देंगेः ईरान

ईरान के गृहमंत्री ने कहा है कि पानी के न्यायपूर्ण वितरण के सिवा कोई कार्यक्रम नहीं है और वर्षा कम होने की वजह से चहार महाल व बख्तियारी प्रांत में पानी की समस्या से मुश्किल और बढ़ गयी है।

गृहमंत्री अहमद वहीदी ने बसीज सप्ताह के संबंध में चहार महाल व बख्तियारी प्रांत में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि इस्लामी क्रांति की सफलता के बाद स्वंय सेवी सेना बसीज का गठन बेहतरीन कार्य था जिसे स्वर्गीय इमाम खुमैनी रह. के आदेश से अंजाम दिया गया।

उन्होंने कहा कि हमारा पूरा राष्ट्र बसीजी है और लोगों ने बहुत से गौरवपूर्ण  कार्य अंजाम दिये हैं और मानव समाज के पथ प्रदर्शन की बड़ी ज़िम्मेदारी ली और बसीज शहीदों के मार्ग के जारी रहने का सिलसिला है और चहार महाल व बख्तियारी प्रांत ने दो हज़ार 440 बसीज़ों की शहादत पेश की है।

उन्होंने कहा कि चहार महाल व बख्तियारी प्रांत में बहुत अधिक संभावनायें हैं और सबसे महत्वपूर्ण प्रांत के लोगों का धर्मपरायण होना है कि यह सबसे बड़ी संभावना है और अधिकारियों व ज़िम्मेदारों को चाहिये कि पूरी तनमयता से लोगों की सेवा करें और जब लोग एक दूसरे के कांधे से कांधा मिलाकर काम करेंगे तो प्रतिरक्षा काल और क्रांति के समय की भांति आर्थिक, निर्धनता और बेरोज़गारी सहित बड़ी कठिनाइयों का समाधान हो जायेगा।

उन्होंने कहा कि सरकार की कला यह है कि वह कार्य का आधार जनता व लोगों को करार दे और इस बात की अपेक्षा नहीं रखनी चाहिये कि समस्त समस्याओं का समाधान सरकार करेगी और समाज के समस्त लोगों को सामाजिक गतिविधियों में भाग लेना चाहिये।

उन्होंने कहा कि इस बात की अनुमति नहीं दी जानी चाहिये कि दुश्मन पानी की कमी की समस्या का प्रयोग अपने लक्ष्यों के लिए करे क्योंकि वह हर बार विघ्न उत्पन्न करके ज़ख्म पर नमक छिड़कने की चेष्टा करता है परंतु लोग होशियार हैं और दुश्मन को अधिक पहचानने की ज़रूरत है और सोच- विचार और तार्किक ढंग से लोगों की समस्याओं को किया जाना चाहिये।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*