?>

दुश्मन की साज़िशें, ईरान की इस्लामी व्यवस्था की मज़बूती का कारण बनी हैं, जनरल सलामी

दुश्मन की साज़िशें, ईरान की इस्लामी व्यवस्था की मज़बूती का कारण बनी हैं, जनरल सलामी

इस्लामी क्रांति संरक्षक बल (आईआरजीसी) के कमांडर जनरल हुसैन सलामी का कहना है कि पिछले 4 दशकों में दुश्मन की साज़िशें, ईरान की इस्लामी व्यवस्था की मज़बूती का कारण बनी हैं।

आईआरजीसी के प्रांतीय कमांडरों की बैठक को संबोधित करते हुए जनरल सलामी ने कहाः आदर्श राष्ट्र वह राष्ट्र है जो धार्मिक और नैतिक मूल्यों के आधार पर आधुनिक, विकसित, स्वाधीन और सुरक्षित समाज का निर्माण करे। दुश्मन का उद्देश्य, इस्लामी क्रांति के विस्तार को रोकना है।

उन्होंने कहाः दुश्मन ने हमारी इस्लामी व्यवस्था के मार्ग में जो रुकावटें और चुनौतियां खड़ी की हैं, दुनिया में अगर किसी भी व्यवस्था के मुक़ाबले में खड़ी की जातीं वह धराशायी हो जाती। इन 4 दशकों में दुश्मन की साज़िशें, ईरान की इस्लामी व्यवस्था की मज़बूती का कारण बनी हैं, और जितना अधिक शत्रु से आमना-सामना होता है, इस व्यवस्था और समाज की हड्डियां उतनी ही मज़बूत होती हैं। 

342/


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*