?>

दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी, बड़ी त्रासदी घटने का ख़तरा, केजरीवाल ने वर्चुअल मीटिंग में की प्रधान मंत्री से अपील...

दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी, बड़ी त्रासदी घटने का ख़तरा, केजरीवाल ने वर्चुअल मीटिंग में की प्रधान मंत्री से अपील...

दिल्ली के मुख्य मंत्री ने प्रधान मंत्री को सूचित किया है कि अगर ऑक्सीजन की कमी दूर न हुयी तो दिल्ली में बहुत बड़ी त्रासदी घट सकती है।

अरविन्द केजरीवाल ने नरेन्द्र मोदी के साथ शुक्रवार को वर्चुअल मीटिंग में यह बात कही। उन्होंने कहा कि अगर दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए तेज़ी से क़दम नहीं उठाया गया तो बहुत बड़ी त्रासदी हो सकती है।

शुक्रवार को प्रधान मंत्री की, कोविड-19 से, 10 सबसे ज़्यादा प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्री के साथ वर्चुअल बैठक हुयी।

दिल्ली के मुख्य मंत्री ने इस मीटिंग में कहाः “कुछ राज्यों से दिल्ली को ऑक्सीजन की सप्लाई होती है और वहीं सबसे ज़्यादा मुश्किलें सामने आयी हैं। मैं आपसे निवेदन करता हूं कि अगर आप उन राज्यों के मुख्य मंत्रियों को एक बार फ़ोन करके कह दें कि ऑक्सीजन के ट्रक न रोंके, तब दिल्ली के लोगों को ऑक्सीजन मिल पाएगी। दिल्ली की 2 करोड़ जनता के लिए मैं आपसे हाथ जोड कर निवेदन करता हूँ। आप हमारी मदद कर सकते हैं, प्लीज़ हमारी मदद कीजिए।”

इसी तरह केजरीवाल ने इस मीटिंग में कहा कि कोविड-19 से देश को बचाने के एक राष्ट्रीय योजना बननी चाहिए जिसमें केन्द्र सरकार सेना की मदद से ऑक्सीजन के सभी प्लांट अपनी निगरानी में ले ले। उन्होंने कहा कि अगर सेना के दस्ते ऑक्सीजन के ट्रकों को एस्कॉर्ट करेंगे तो कोई भी ट्रक को नहीं रोकेगा। उन्होंने बताया कि दिल्ली को पश्चिम बंगाल और ओडिशा से 100 टन ऑक्सीजन मिलने में मुश्किल हो रही है। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*