?>

दाइश की आड़ में अमरीका ने इराक़ के लिए चली नई चाल, इस बार बदूक़ नेटो के कांधे पर

दाइश की आड़ में अमरीका ने इराक़ के लिए चली नई चाल, इस बार बदूक़ नेटो के कांधे पर

नेटो ने इराक़ में अपने सैनिकों की संख्या में आठ गुना वृद्धि का फैसला कर लिया है।

इराक़ में इस समय बहुत से विदेशी सैनिक मौजूद हैं।  हालांकि सन 2003 से पहले एसा नहीं था।  इराक़ में विदेशी, विशेषकर पश्चिमी देशों के सैनिकों का आगमन 2003 से शुरू हुआ था जब अमरीका ने इराक़ का अतिग्रहण किया था।  ट्रम्प की ओर से इराक़ से अमरीकी सैनिकों को वापस बुलाकर उनकी संख्या कम करने के स्थान पर उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन "नेटो" ने अब वहां पर अपने सैनिकों की संख्या में अभूतपूर्व वृद्धि का फैसला किया है।

उत्तरी अटलांटिक संधि संगठन नेटो प्रमुख स्टॉल्टनबर्ग ने इस संगठन की वार्षिक बैठक के अंत में घोषणा की है कि इराक़ में नेटो के सैनिकों की संख्या को बढ़ाया जा रहा है।  नेटो प्रमुख ने कहा कि इराक़ में मौजूद नेटो के 500 सैनिकों के स्थान पर अब वहां 4000 सैनिकों को तैनात किया जाएगा।  उन्होंने कहा कि इराक़ में नेटो के सैनिकों की संख्या को आठ बराबर करने का कारण यह है कि दाइश को वहां पर फिर से सिर उठाने से रोका जाए।

हालांकि पहले नेटो ने इराक़ में अपने सैनिकों की संख्या को सीमित करने की नीति अपनाई थी।  अब बाइडेन के सत्ता में पहुंचने के बाद नेटो ने दाइश के बहाने इराक़ में अपने सैनिकों की संख्या को चार हज़ार तक पहुंचाने का फैसला किया है।  हालांकि इराक़ में नेटो के सैनिकों की ज़िम्मेदारी प्रशिक्षण और सैन्य परामर्श रही है किंतु उसके सैनिकों की संख्या में आठ बराबर वृद्धि दर्शाती है कि इसके पीछे की कहानी कुछ अलग ही है क्योंकि सैन्य प्रशिक्षण के लिए हज़ारों सैनिकों की आवश्यकता नहीं होती।

इस संबन्ध में इराक़ के एक राजनैतिक टीकाकार अब्बास अलअरदावी कहते हैं कि नेटो द्वारा इराक़ में अपने सैनिकों की संख्या को 500 से बढ़ाकर 4000 तक करना एक प्रकार का अतिग्रहण माना जाएगा।  उन्होंने कहा कि हक़ीक़त यह है कि यह नेटो के नहीं बल्कि अमरीका के सैनिक हैं।  इस इराक़ी टीकाकार के अनुसार यह इराक़ के संबन्ध में अमरीका का नया खेल है।  उनका कहना है कि जबसे इराक़ की संसद ने अपने देश से अमरीकी सैनिकों को बाहर निकालने का प्रस्ताव पारित किया है तब से अमरीका, दूसरे बहाने से इराक़ में अपनी सैन्य उपस्थिति को बनाए रखना चाहता है।  इराक़ में नेटो के सैनिकों की संख्या में बढ़ोत्तरी, इसी अमरीका चाल का हिस्सा है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

پیام رهبر انقلاب به مسلمانان جهان به مناسبت حج 1441 / 2020
conference-abu-talib
We are All Zakzaky
सेंचुरी डील स्वीकार नहीं