?>

तेल से माला-माल यमनी प्रांत मआरिब की आज़ादी की उलटी गिंती शुरू, यमनी सेना का यह कारनामा सऊदी सैन्य गठबंधन के ताबूत में साबित होगा आख़िरी कील

तेल से माला-माल यमनी प्रांत मआरिब की आज़ादी की उलटी गिंती शुरू, यमनी सेना का यह कारनामा सऊदी सैन्य गठबंधन के ताबूत में साबित होगा आख़िरी कील

यमनी सेना और स्वंयसेवी बल ने मआरिब के रणनैतिक नज़र से अहम इलाक़े अत्तिब्बतुल बैज़ा को आज़ाद करा लिया है।

अल्मयादीन टीवी चैनल के मुताबिक़, यमनी सेना और स्वंयसेवी बल की मआरिब प्रांत में प्रगति जारी है। इसी क्रम में एक ऑप्रेशन में अत्तिब्बतुल बैज़ा इलाक़े को अपने नियंत्रण में ले लिया। यह इलाक़ा रणनैतिक नज़र से इसलिए अहम है क्योंकि इस प्रांत के पश्चिमी क्षेत्रों के ज़्यादातर मोर्चों पर पहुंच मुमकिन है।

यमनी फ़ोर्सेज़ ने इसी तरह अलमुशज्जा इलाक़े को भी आज़ाद कराने में सफलता हासिल की और उन बाक़ी इलाक़ों की ओर प्रगति की जिन पर यमन की इस्तीफ़ा दे चुकी मंसूर हादी के किराए के सैनिकों का क़ब्ज़ा है।

इसी तरह यमनी सेना ने रणनैतिक नज़र से अहम समझे जाने वाले अत्तलअतुल हमरा इलाक़े की ओर भी बड़ी प्रगति की है।

यमन की इस्तीफ़ा दे चुकी सरकार ने भी इस बात को माना कि इस इलाक़े में झड़प के दौरान, उनके रक्षा मंत्रालय के सैन्य न्यायालय का अधिकारी अब्दुल्लाह हाज़ेरी मारा गया।

इस बीच यमनी सेना और स्वंयसेवी बल ने सऊदी अरब के नजरान प्रांत के क़रीब अल्अजाशिर मरुस्थल में सऊदी गठबंधन की सेना के ठिकानों पर हमला किया।

ग़ौरतलब है कि रणनैतिक नज़र से अहम मआरिब शहर में तीन महीने पहले झड़पें शुरू हुयीं। इस शहर में यमनी फ़ोर्सेज़ की कामयाबी को देखते हुए सऊदी गठबंधन यमन के विभिन्न क्षेत्रों से अपने किराए के सैनिकों को मआरिब के मोर्चे पर भेज रहा है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*