?>

तुर्की की अमरीका को कड़ी चेतावनीः अगर प्रतिबंध लगाए तो दो सैन्य छावनियों से निकाल बाहर कर दिया जाएगा

तुर्की की अमरीका को कड़ी चेतावनीः अगर प्रतिबंध लगाए तो दो सैन्य छावनियों से निकाल बाहर कर दिया जाएगा

तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोगान ने धमकी दी है कि अगर अमरीका ने उस पर प्रतिबंध लगाए तो वे अमरीकी परमाणु हथियारों वाली इंसर्लिक सैन्य छावनी को बंद कर देगा।

हाबेर टीवी को दिए गए इंटरव्यू में अर्दोगान ने कहाः अगर ज़रूरी हुआ तो हम इंसर्लिक छावनी को बंद कर देंगे और अमरीकी सैनिकों को परमाणु हथियारों समेत यहां से अपना बोरिया-बिस्तरा बांधना होगा।

ग़ौरतलब है कि रूस से मिसाइल रक्षा प्रणाली एस-400 ख़रीदने के कारण, अमरीकी अधिकारी तुर्की के ख़िलाफ़ आर्थिक प्रतिबंध लागू करने की धमकी दे रहे हैं।

पिछले ही हफ़्ते अमरीकी सिनेटरों ने एस-400 ख़रीदने और उत्तरी सीरिया में सैन्य अभियान के लिए तुर्की पर प्रतिबंध लगाने वाले बिल का समर्थन किया था।

तुर्क वायु सेना की इंसर्लिक छावनी सीरियाई सीमा से क़रीब 150 किलोमीटर की दूरी पर तुर्की के अदाना शहर के निकट स्थित है। 2011 से अमरीका इस सैन्य छावनी से क्षेत्र में जासूसी और सीरिया में हमलों के लिए ड्रोन उड़ा रहा है।

इंसर्लिक में अमरीका के परमाणु हथियारों को भी रखा गया है।

तुर्क राष्ट्रपति ने केवल इंसर्लिक से अमरीकी सेना को बाहर निकालने की धमकी नहीं दी है, बल्कि उन्होंने कहा है कि अगर ज़रूरी हुआ तो कुरेसिक एयरबेस को भी बंद कर दिया जाएगा। कुरेसिक पूर्वी तुर्की में स्थित नाटो का महत्वपूर्ण अड्डा है।

अर्दोगान का कहना था कि अगर वे (अमरीकी) हमें प्रतिबंधों की धमकी दे रहे हैं तो हम भी जवाबी क़दम उठायेंगे।

इससे पहले शनिवार को क़तर कांफ्रेंस में बोलते हुए तुर्क विदेश मंत्री मौलूद ओग़लू ने कहा था कि उनका देश रूस के साथ एस-400 के समझौते को रद्द नहीं करेगा, चाहे उसके कुछ भी परिणाम निकलें।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*