?>

तालेबान शांति नहीं चाहता, वह पहले से अधिक अत्याचारी हो गया है"अशरफ़ ग़नी

तालेबान शांति नहीं चाहता, वह पहले से अधिक अत्याचारी हो गया है

अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति मोहम्मद अशरफ़ ग़नी ने कहा है कि जब तक रणक्षेत्र में स्थिति परिवर्तित नहीं होती तब तक तालेबान शांतिवार्ता के लिए गम्भीर रूप से तैयार नहीं होगा।

समाचार एजेन्सी इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार मोहम्मद अशरफ़ ग़नी ने आज राष्ट्रपति भवन में कहा कि उन्होंने ऐसा कार्यक्रम तैयार किया है जिससे अगले 6 महीनों के दौरान रणक्षेत्र में गम्भीर रूप से स्थिति बदल जायेगी।

उन्होंने कहा कि जो कार्यक्रम उन्होंने तैयार किया है कि उसके अंतर्गत महत्वपूर्ण नगर सरकार के नियंत्रण में आ जायेंगे और पुलिस इन क्षेत्रों की सुरक्षा व्यवस्था संभालने के लिए तैयार हो रही है। उन्होंने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान को व्यापक हमले का सामना है और तालेबान, आतंकवादी गुट और इस गुट के विदेशी समर्थक प्रतिदिन सुरक्षा बलों के खिलाफ 50 से 150 हमले व कार्यवाहियां करते हैं।

इसी प्रकार अफगान राष्ट्रपति ने कहा कि तालेबान ने अंतरराष्ट्रीय आतंकवादियों को अफ़ग़ानिस्तान में दाखिल कर दिया है और इस हमले को नाकाम बनाने के लिए राष्ट्रीय तैयारी की ज़रूरत है।

इसी बीच सूचना है कि अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रपति ने आज अफ़ग़ान सांसदों की आपात बैठक बुलाई है और कहा है कि देश की वर्तमान स्थिति के दृष्टिगत इस प्रकार की बैठक ज़रूरी है। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*