?>

तालेबान ने ईरान की इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता के बयान का स्वागत किया

तालेबान ने ईरान की इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता के बयान का स्वागत किया

तालेबान ने इस्लामी एकता के बारे में ईरान की इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता के बयान का स्वागत किया है।

तालेबान के विदेशमंत्रालय के प्रवक्ता अब्दुल क़ह्रार बल्खी ने कहा कि वह शिया-सुन्नी मुसलमानों के मध्य एकता के संबंध में ईरान के सर्वोच्च नेता के बयान का स्वागत करते हैं।

उन्होंने कहा कि एकता के माध्यम से अफगानिस्तान ने स्वतंत्रता हासिल की है और इंशा अल्लाह एकता के ज़रिये फूट डालने वाले षडयंत्रों को नाकाम बना देगा।

तालेबान के राजनीतिक कार्यालय के एक प्रवक्ता मोहम्मद नईम ने भी कहा है कि शिया- सुन्नी मुसलमानों के बीच अधिक से अधिक एकता पर आधारित ईरान की इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता के बयान का वह स्वागत करते हैं।

ईरान की इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता ने इस्लामी कांफ्रेन्स में बल देकर कहा था कि अफगानिस्तान में होने वाले बम विस्फोट शिया -सुन्नी के बीच मतभेद का परिणाम है।

इसी प्रकार ईरान की इस्लामी क्रांति के सर्वोच्च नेता ने कहा था कि हम ईरान में मुसलमानों के मध्य एकता पर जो अधिक बल देते हैं उसका कारण यह है कि आज लगातार शिया- सुन्नी सम्प्रदायों के मध्य मतभेद फैलाने की कोशिश की जाती है, आप देखें कि अमेरिका के राजनीतिक साहित्य में कुछ वर्षों से शिया- सुन्नी शब्द दाखिल हो गया है जबकि अस्ल में वे इस्लाम के खिलाफ़ हैं किन्तु वे शिया- सुन्नी के मामले को नहीं छोड़ रहे हैं।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*