?>

तालेबान अपनी शर्त पर अड़ा, वार्ता का भविष्य ख़तरे में

तालेबान अपनी शर्त पर अड़ा, वार्ता का भविष्य ख़तरे में

अफ़ग़ान तालेबान और अमरीका के बीच शांति वार्ता के कई चरण होने के बावजूद अभी तक वह किसी परिणाम पर नहीं पहुंच सके हैं।

ईद के उपलक्ष्य में अफ़ग़ान तालेबान के सरग़ना मुल्लाह हैबतुल्लाह अख़ुन्दज़ादे ने अपने संदेश में कहा कि अमरीका, अफ़ग़ान विवाद के हल की वार्ता में गंभीर रहे।

अफ़ग़ान तालेबान के सरग़ना का कहना कि अमरीका वार्ता में तर्क और समझबूझ की नीति अपनाने के अतिरिक्त तालेबान की वार्ता के प्रस्ताव को स्वीकार करे।

उनका कहना था कि तालेबान वार्ता प्रक्रिया में प्रगति के हवाले से समस्त विदेशी सैनिकों के निष्कासन को महत्वपूर्ण समझता है। वार्ता के हवाले से दरवाज़ा खुला है किन्तु किसी परिणा पर पहुंचने के लिए हमारी बात की सुनना होगी।

ज्ञात रहे कि तालेबान और अमरीका के बीच वार्ता का अंतिम चरण मई में पूरा हुआ था।

दूसरी ओर ग़ज़नी प्रांत में पुलिस के कारवां में तालेबान के हाथों लगाए गये बम के धमाके में 8 लोग मारे गये।

तसनीम न्यूज़ एजेन्सी की रिपोर्ट के अनुसार अफ़ग़ान पुलिस का एक कारवां शनिवार की रात ग़ज़नी प्रांत में सड़क के किनारे लगे बम से टकरा गया जिसमें अन्य पुलिसकर्मी घायल भी हुए । यह बम तालेबान ने पुलिसकर्मियों के रास्ते में लगाया था।

तालेबान के प्रवक्ता ज़बीहुल्लाह मुजाहिद ने दावा किया कि इस हमले में कम से कम 40 पुलिसकर्मी मारे गये।

ग़ज़नी पर्त में पिछले सप्ताह के दौरान तालेबान और पुलिसकर्मियों के बीच झड़पों में तेज़ी आ गयी है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*