?>

तालिबान: दाइश हमारा और सभी इस्लामिक देशों का दुश्मन है

तालिबान: दाइश हमारा और सभी इस्लामिक देशों का दुश्मन है

तालिबान के एक प्रवक्ता ने कहा कि आईएसआईएस हमारा और सभी इस्लामिक देशों का जो इस आतंकवादी समूह का विरोध करते हैं दुश्मन है।तुलूअ न्यूज के हवाले से, तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ़ अफगान क्षेत्र का उपयोग करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

तालिबान के एक प्रवक्ता ने कहा कि आईएसआईएस हमारा और सभी इस्लामिक देशों का जो इस आतंकवादी समूह का विरोध करते हैं दुश्मन है।तुलूअ न्यूज के हवाले से, तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने कहा कि पाकिस्तान के खिलाफ़ अफगान क्षेत्र का उपयोग करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।
उन्होंने कहा: "हम अफगानिस्तान के नागरिकों को नुकसान नहीं पहुंचाएंगे; अगर मजबूर न हुऐ तो हम कोई गंभीर कार्रवाई नहीं करेंगे।
मुजाहिद के मुताबिक, पाकिस्तानी तालिबान (टीटीपी) पाकिस्तान का अंदरूनी मामला है और हम इस मामले में दखल देने में यकीन नहीं रखते. हम पाकिस्तान में असुरक्षा नहीं चाहते हैं और कोई भी पड़ोसी देश के खिलाफ हमारी जमीन का इस्तेमाल नहीं कर सकता।
तालिबान के एक प्रवक्ता ने कहा: "पाकिस्तान एक मुस्लिम भाई देश है और हमारा दूसरा घर है। हमारे समान मूल्य हैं और पाकिस्तान लाखों शरणार्थियों की मेजबानी कर रहा है।" हम पाकिस्तान के साथ अच्छे संबंध चाहते हैं। उन्होंने कहा, "दोहा में हमारी एक वार्ता टीम है और हमें उम्मीद है कि वार्ता सफल होगी।"
मुजाहिद ने याद दिलाया: सभी धार्मिक और आर्थिक अधिकार महिलाओं के हैं और सभी नागरिकों के अधिकार सुरक्षित हैं। ISIS हमारा दुश्मन है और सभी इस्लामिक देशों का जो इस समूह के खिलाफ हैं।
तालिबान के प्रवक्ता ने कहा: हम बातचीत के माध्यम से इस्लामी व्यवस्था स्थापित करना चाहते हैं और हम बलपूर्वक काबुल नहीं आएंगे।हत्ता कि सत्ता के बावजूद हम संवाद को प्राथमिकता देंगे।



/129


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*