?>

ताक़त के बल पर काबुल में दाख़िल नहीं होंगेः तालेबान

ताक़त के बल पर काबुल में दाख़िल नहीं होंगेः तालेबान

तालेबान गुट के प्रवक्ता ज़बीहुल्लाह मुजाहिद ने कहा है कि काबुल की जनसंख्या अधिक होने के कारण युद्ध से वहां के लोगों को क्षति पहुंचेगी इसलिए इस गुट के लड़ाके युद्ध के बजाये शांतिपूर्ण वार्ता के माध्यम से काबुल में दाखिल होंगे।

समाचार एजेन्सी इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार ज़बीहुल्लाह मुजाहिद ने अपने ट्वीटर हैंडल पर लिखा है कि तालेबान और काबुल सरकार के बीच वार्ता जारी है और आशा है कि शांतिपूर्ण ढंग से सत्ता का हस्तांतरण हो जायेगा और तालेबान ताक़त के बल पर काबुल में दाखिल नहीं होंगे।

तालेबान के प्रवक्ता ने इसी प्रकार इस गुट के लड़ाकों से कहा है कि वे काबुल से बाहर रुके रहें और राजधानी में दाखिल होने का प्रयास न करें।

ज़बीहुल्लाह मुजाहिद ने इसी प्रकार सुरक्षा बलों और असैनिक कर्मचारियों के लिए आम माफी की घोषणा की है और कहा है कि तालेबान कदापि किसी से प्रतिशोध नहीं लेना चाहता। इस रिपोर्ट के अनुसार जब तक काबुल को तालेबान के हवाले नहीं किया जाता तब तक इस नगर की सुरक्षा सरकार की ज़िम्मेदारी होगी।

इसी मध्य अफ़ग़ानिस्तान के रक्षामंत्री ने कुछ समय पहले एक वीडियो संदेश जारी करके लोगों को काबुल की सुरक्षा का आश्वासन दिलाया है और कहा है कि विदेशी सेनायें भी काबुल की सुरक्षा को सुनिश्चित बनाने में सरकारी बलों के साथ सहयोग कर रही हैं अतः लोग चिंतित न हों।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*