?>

टाइटैनिक जहाज़ की तरह अमरीका भी डूबेगाः वरिष्ठ नेता

टाइटैनिक जहाज़ की तरह अमरीका भी डूबेगाः वरिष्ठ नेता

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने कहा कि 21 फ़रवरी के संसदीय चुनाव, दुश्मनों के बहुत से नापाक इरादों को विफल बना देंगे।

ईरान के प्रांत पूर्वी आज़रबाइजान के लोगों की एक बड़ी संख्या ने मंगलवार को तेहरान में वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनेई से मुलाक़ात की। वरिष्ठ नेता ने इस अवसर पर अपने संबोधन में इस बात पर बल देते हुए कि अमरीकी अधिकारियों की कोशिश है कि वह ईरानी युवाओं केो इस्लामी गणतंत्र व्यवस्था से दूर कर दें, कहा कि जनता ने जिस प्रकार से 11 फ़रवरी, इस्लामी क्रांति की सफलता की वर्षगांठ की रैलियों और शहीद जनरल क़ासिम सुलैमान की शवयात्रा में करोड़ों की संख्या में भाग लिया था,इसी प्रकार 21 फ़रवरी के संसदीय चुनाव में भी भरपूर ढंग से भाग लेकर दुश्मनों को निराश कर देंगे। 

 वरिष्ठ नेता ने कहा कि दुश्मन यह देखना चाहते हैं कि अपने प्रयासों, प्रोपेगैंडों और ईरानी जनता पर आर्थिक समस्याएं थोपने, पश्चिमी देशों की ओर से ईरान के साथ परमाणु समझौते के उल्लंघनों और अमरीकी दबावों के बाद इन सब कार्यवाहियों का परिणाम क्या निकलता है? और ईरानी जनता पर इन का कितना असर होता है? आयतुल्लाहिल उज़मा सैयद अली ख़ामेनेई ने इस बात का उल्लेख करते हुए कि चुनाव एक आम जेहाद और इस्लामी व्यवस्था तथा देश की प्रतिष्ठा के रक्षक हैं, कहा कि यह चुनाव ईरान के दुश्मनों के धोखे का जवाब होंगे और ईरानी जनता जानती है कि उन्हें क्या करना है।

इस्लामी गणतंत्र ईरान ने अमरीकी आतंकवादियों के हाथों जनरल क़ासिम सुलैमान की शहादत का उल्लेख करते हुए कहा कि अमरीकी अधिकारी बग़दाद हवाई अड्डे पर जनरल क़ासिम सुलैमानी को शहीद करने के बाद बेबस और लाचार हतो गये और स्वयं अमरीकी राष्ट्रपति और उनके आसपास के लोग आधिकारिक रूप से इस परिणाम पर पहुंच गये हैं कि उन्होंने इस अपराधिक कार्यवाही के बारे में ग़लत अनुमान लगाया था।

वरिष्ठ नेता ने कहा कि जनरल क़ासिम सुलैमानी को आतंकवादी हमले में शहीद कर दिए जाने के बाद पूरी दुनिया में अमरीकी अधिकारियों की निंदा की गयी और स्वयं अमरीका के अंदर उन पर भीषण हमले किए गये और सवाला किया गया कि तुमने यह कितनी बड़ी ग़लती कर डाली कि जिसका उलटा परिणाम निकल रहा है? 

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने कहा कि अमरीकी यह चाहते थे कि जनरल क़ासिम सुलैमान को कि जिनका क्षेत्र में गहरा प्रभाव था, शहीद करके क्षेत्र की स्थिति पर नियंत्रण प्राप्त कर लें किन्तु परिणाम उसके विपरीत निकला और जिस प्रकार से बग़दाद में लाखों की संख्या में लोगों ने शवयात्रा में भाग लिया, सीरिया में दसियों हज़ार लोगों ने जनरल क़ासिम सुलैमानी की याद में रैलियां निकाली और इसकेबाद हलब और अन्य क्षेत्रों में जो तेज़ी के साथ स्थिति बदल रही है, वह सब अमरीकियों के अंदाज़ों के बिल्कुल विपरीत है।

वरिष्ठ नेता ने कहा कि अमरीकी विदित को सजा कर रखते हैं, मामले के विदित रूप में दिखावा पैदा करते हैं ताकि दूसरों को धोखा दें और दुनिया में कुछ लोगों को भयभीत भी कर दें, जिस पर प्रसिद्ध जहाज़ टाइटैनिक का भव्य और तेज उसे डूबने से नहीं बचा सका, अमरीका का भव्य और तेज भी उसे डूबने से नहीं बचा सकेगा, अमरीका डूबेगा।





अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*