?>

जेल तोड़कर भागने वाले फ़िलिस्तीनी क़ैदियों को खोजने के लिए फ़िलिस्तीनी इलाक़ों पर इस्राईल के हमले

जेल तोड़कर भागने वाले फ़िलिस्तीनी क़ैदियों को खोजने के लिए फ़िलिस्तीनी इलाक़ों पर इस्राईल के हमले

इस्राईली सैनिकों ने जेल तोड़कर भागने वाले फ़िलिस्तीनी क़ैदियों को खोजने के लिए अवैध अधिकृत वेस्ट बैंक के दर्जनों इलाक़ों पर धावा बोल दिया है।

जेनिन में मीडिया सूत्रों का कहना है कि मंगलवार को दर्जनों इस्राईली सैनिकों ने अर्राबा इलाक़े पर हमला कर दिया और फ़िलिस्तीनियों के घरों की तलाशी ली।

6 फ़िलिस्तीनी क़ैदी इस्राईल की सबसे सुरक्षित माने वाली एक जेल से आज़ाद होने में कामयाम हो गए हैं, जिससे ज़ायोनी शासन के बड़े-बड़े दावों की पोल खुल गई है।

फ़िलिस्तीनी मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक़, इस्राईली सैनिकों ने जेल तोड़कर आज़ाद होने वाले फ़िलिस्तीनियों के घरों पर छापेमारी की है और उनके परिजनों को उठाना शुरू कर दिया है।

अर्राबुना इलाक़े में हमलावर ज़ायोनी सैनिकों और फ़िलिस्तीनी युवकों के बीच झड़पों की भी ख़बर हैं।

जेनिन के अनीन इलाक़े में भी दर्जनों इस्राईली सैनिकों ने धावा बोल दिया और घरों की तलाशी ली।

ग़ौरतलब है कि सोमवार को फ़िलिस्तीनी प्रतिरोधी गुट अल-अक़सा ब्रिगेड के पूर्व कमांडर ज़करिया ज़ुबैदी और इस्लामी जिहाद के पांच सदस्य अपने सेल में मौजूद ड्रेनेज सिस्टम के ज़रिए जेल से फ़रार होने में कामयाब हो गए थे।

1987 के बाद से इस्राईली जेल तोड़कर आज़ाद होने वाले फ़िलिस्तीनियों की यह सबसे बड़ी संख्या है।

फ़िलिस्तीनी अथॉरिटी के प्रधान मंत्री मोहम्मद शतय्याह ने इस्राईल से मांग की है कि वह सभी फ़िलिस्तीनी क़ैदियो को आज़ाद कर दे, जिन्हें उसने ग़ैर क़ानूनी रूप से गिरफ़्तार कर रखा है।

इस्राईली प्रधान मंत्री नफ़्ताली बेनेट ने इस घटना को एक गंभीर घटना क़रार दिया है, जबकि फ़िलिस्तीनियों ने सोशल मीडिया पर इसे एक जीत क़रार दिया है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*