?>

जहां चुनाव वहां कोरोना नहीं, जहां किसान मीटिंग करना चाहें वहां कोरोनाः टिकैत

जहां चुनाव वहां कोरोना नहीं, जहां किसान मीटिंग करना चाहें वहां कोरोनाः टिकैत

किसान आन्दोलन के नेता राेकश टिकैत ने कहा है कि यह कैसी विडंबना है कि जहां पर किसान मीटिंग करना चाहते हैं वहां पर कोरोना होता है लेकिन जहां पर चुनावी सभाएं हो रही हैं वहां पर कोरोना ही नहीं है।

राकेश टिकैत 11 और 12 अप्रैल को मध्यप्रदेश में सभाएं करने वाले थे लेकिन वहां पर लाक डाउन के कारण अब वे नहीं जा सकते।  उन्होंने कहा है कि जहां चुनाव वहां तो कोरोना नहीं और जहां किसान जाएं वहां पर कोरोना है।

उनका कहना था कि जहां चुनाव हो रहे हैं वहां का कोरोना का डाटा नहीं आ रहा है क्या कुछ छिपाया जा रहा है।  टिकैत का कहना था कि कोरोना के नाम पर जनता के साथ धोखा किया जा रहा है।

इसी बीच भारत में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या पहली बार 11 लाख के पार पहुंच गई है।,  भारत मे एक ही दिन में संक्रमण के डेढ़ लाख से अधिक नए मामले सामने आए।

भारत में कोविड-19 के एक दिन में रिकॉर्ड मामले सामने आए हैं जिनकी संख्या 1,52,879 है। इन नए मामलों के आने से संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 1,33,58,805 हो गई।  विशेष बात यह है कि भारत में वर्तमान समय में इस बीमारी का इलाज करा रहे लोगों की संख्या, महामारी शुरू होने के बाद से पहली बार 11 लाख के आंकड़े के पार चली गई है।  भारत के केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार सुबह आठ बजे तक जारी आंकड़ों के अनुसार, महामारी से एक दिन में 839 लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 1,69,275 हो गई है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*