?>

गैलिली घाटी पर हिज़्बुल्लाह के हमले की योजना तैयार, इस्राईली मीडिया का दावा

गैलिली घाटी पर हिज़्बुल्लाह के हमले की योजना तैयार, इस्राईली मीडिया का दावा

इस्राईली मीडिया ने सेना द्वारा सीमा पर हिज़्बुल्लाह की सुरंगों को नष्ट करने का दावा करते हुए गैलिली घाटी पर हिज़्बुल्लाह के हमले की योजना के रहस्योद्घाटन की बात कही है।

इस्राईली मीडिया ने सेना द्वारा सीमा पर हिज़्बुल्लाह की सुरंगों को नष्ट करने का दावा करते हुए गैलिली घाटी पर हिज़्बुल्लाह के हमले की योजना के रहस्योद्घाटन की बात कही है।

टाइम्स ऑफ़ इस्राईल की रिपोर्ट के मुताबिक़, हिज़्बुल्लाह के पास सुरंगों जैसा शायद कोई अन्य रणनीतिक हथियार नहीं है, लेकिन हिज़्बुल्लाह ने इस्राईल के क़ब्ज़े वाली सुन्दर गैलिली घाटी पर हमला करने और इस इलाक़े पर निंयत्रण करने की योजना बना रखी है।

टाइम्स ऑफ़ इस्राईल ने एक लेख में कि जिसका शीर्षक है, "सुरंगों के बाद अब हिज़्बुल्लाह की इस्राईल पर हमले की बड़ी योजना," लिखा है कि इस्राईल के साथ युद्ध छिड़ने की स्थिति में लेबनानी प्रतिरोधी आंदोलन इन सुरंगों के ज़रिए अपने हज़ारों कमांडोज़ इस्राईल में घुसा देता, जिससे इस्राईली सेना हतप्रभ रह जाती।

इस लेख में उल्लेख किया गया है कि हिज़्बुल्लाह के पास कमांडोज़ की एक ऐसी यूनिट है जो किसी भी समय इस्राईल में घुसकर उसके सैनिकों को धूल चटा सकती है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि हिज़्बुल्लाह की योजना सीमा पर भीषण बमबारी करके इस्राईली चौकियों को आधुनिक मिसाइलों से नष्ट करना है।

ग़ौरतलब है कि हिज़्बुल्लाह के हाथों पराजित होकर इस्राईली सेना सन् 2000 में दक्षिणी लेबनान से बाहर निकलने पर मजबूर हो गई थी, जिसके बाद दोनों के बीच 2006 में 33 दिवसीय युद्ध हुआ था।

इस युद्ध में इस्राईल को ऐसी अपमानजनक हार हुई थी कि उसके बाद आज तक इस्राईल ने लेबनान की ओर एक गोली भी नहीं चलाई है, हालांकि इससे पहले वह आए दिन लेबनान की सीमाओं का उल्लंघन करता रहता था।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*