?>

गेहूं को हथियार के रूप में इस्तेमाल न किया जाएः पोप फ़्रांसिस

गेहूं को हथियार के रूप में इस्तेमाल न किया जाएः पोप फ़्रांसिस

कैथोलिक इसाइयों के धर्मगुरू ने कहा है कि गेहूं को हथियार के रूप में प्रयोग नहीं किया जाना चाहिए।

यूक्रेन संकट के संदर्भ में पोप फ़्रांसिस ने कहा है कि विशेषज्ञों का कहना है कि यह संकट दुनिया में खाद्य संकट का कारण बन रहा है।  उन्होंने कहा कि एसे में गेहूं को किसी भी प्रकार से हथियार के रूप में प्रयोग न किया जाए।

वेटिकन की ओर से सोशल मीडिया पर बुधवार को ट्वीट किया गया जिसमें पोप फ़्रांसिस ने गेहू के निर्यात में आने वाली समस्त बाधाओं को दूर करने का आह्वान किया।  उन्होंने आगे लिखा कि गेहूं के संकट को दूर करने के लिए हर प्रकार की संभावनाओं से लाभ उठाया जाए।  पोप फ़्रांसिस के अनुसार गेहूं, विश्व के अधिकांश लोगों का भोजन है जिसको किसी भी स्थति में हथियार में रूप में इस्तेमाल न किया जाए।

इससे पहले रूस के राष्ट्रपति विलादिमीर पुतीन ने यह बात स्वीकार की है कि दुनिया को गंभीर खाद्य संकट का सामना करना पड़ सकता है।रूस के राष्ट्रपति भवन की ओर से एलान किया गया है कि विश्व को भारी अनाज की कमी का सामना हो सकता है।

संयुक्त राष्ट्रसंघ की ओर से भी यह बात कही जा चुकी है दुनिया में ग़ल्ले का संकट पैदा होने जा रहा है।  पुतीन भी राष्ट्रसंघ के इस दृष्टिकोण का समर्थन करते हैं कि विश्व को भविष्य में अनाज के गंभीर संकट का सामना करना पड़ सकता है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*