?>

कुछ शक्तियां, ईरान-पाकिस्तान संबंधों को ख़राब करने का प्रयास कर रही हैः पाक विदेशमंत्री

कुछ शक्तियां, ईरान-पाकिस्तान संबंधों को ख़राब करने का प्रयास कर रही हैः पाक विदेशमंत्री

पाकिस्तान के विदेशमंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने तालेबान और अमरीका के बीच वार्ता में प्रगति के बाद प्रधानमंत्री इमरान ख़ान और अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प के बीच मुलाक़ात का इशारा दिया है।

(ABNA24.com) पाकिस्तान के विदेशमंत्री शाह महमूद क़ुरैशी ने तालेबान और अमरीका के बीच वार्ता में प्रगति के बाद प्रधानमंत्री इमरान ख़ान और अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प के बीच मुलाक़ात का इशारा दिया है।

शाह महमूद क़ुरैशी ने ऊर्दू न्यूज़ से बात करत हुए कहा कि दोहा में जारी वार्ता में प्रगति से दोनों महत्वपूर्ण नेताओं की मुलाक़ात के लिए भूमि प्रशस्त होगी।

इस सवाल के जवाब में कि क्या तालेबान और अमरीका की वार्ता में प्रगति दोनों नेताओं की मुलाक़ात से सशर्त है? उन्होंने कहा कि इसको सशर्त न क़रार दें किन्तु मैं समझता हूं कि यदि बातचीत का चरण आगे बढ़ता है तो वातावरण बहुत उपयोगी हो जाएगा।

उनका कहना था कि दोनों नेता क्षेत्र में शांति और स्थिरता के इच्छुक हैं। उन्होंने कहा कि अमरीका और तालेबान के बीच दोहा में वार्ता अभी भी जारी है जो क्षेत्र में शांति और स्थिरता में प्रगति का कारण बनेगी।

पाकिस्तान के विदेशमंत्री ने कहा कि वार्ता में प्रगति की और अधिक संभावना है जिससे वाशिंग्टन और इस्लामाबाद के बीच द्विपक्षीय संबंधों में नया दौर शुरु होगा।

शाह महमूद क़ुरैशी ने ईरान के हवाले से पूछे गये सवाल के जवाब में कहा कि कुछ शक्तियां तेहरान और इस्लामाबाद के बीच संबंधों में रोड़े अटकाने का प्रयास कर रही हैं ताकि अपना व्यक्तिगत एजेन्डा प्राप्त कर सकें।

उनका कहना था कि जब कभी दोनों देशों के बीच संबंधों को ख़राब करने का प्रयास किया गया तब तक ईरान और पाकिस्तान ने उच्चस्तरीय द्विपक्षीय वार्ता द्वारा हर नकारात्मक प्रयास को विफल बना दिया।

उन्होंने कहा कि ऐसी शक्तियां हैं जो ईरान को क्षेत्र में ख़तरा समझती हैं। पाकिस्तान के विदेशमंत्री ने कहा कि वह शक्तियां कौन सी हैं वह इस हवाले से अभी नाम नहीं ले सकते।



/129


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*