?>

किसानों का संयम और संकल्प अडिग, केजरीवाल ने कहा अहंकार छोड़े सरकार, गृह मंत्री के आवास पर महत्वपूर्ण बैठक

किसानों का संयम और संकल्प अडिग, केजरीवाल ने कहा अहंकार छोड़े सरकार, गृह मंत्री के आवास पर महत्वपूर्ण बैठक

भारत में किसान आंदोलन पूरी ताक़त से जारी है जबकि दूसरी ओर सरकार अपने रुख़ पर अडिग होने के साथ ही दबाव में भी दिखाई देने लगी है।

किसानों के समर्थन में चारों तरफ़ से आवाज़ें उठने लगी हैं और भारतीय प्रधानमंत्री मोदी की सरकार के लिए हालात कठिन होते जा रहे हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मांग की है कि सरकार अहंकार छोड़े और किसानों की मांगें मंज़ूर करे। केजरीवाल ने यह भी एलान किया है कि सोमवार को किसानों के अनशन के साथ ही वह ख़ुद भी अनशन पर बैठेंगे। यह भूख हड़ताल सुबह 8 बजे से शाम पांच बजे तक चलेगी।

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं और देश के सभी लोगों को किसानों की मांगों के समर्थन में सोमवार को एक दिन का उपवास रखने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार से गुज़ारिश की है कि वो अहंकार छोड़े और किसानों की मांगों को मंज़ूर करे।

केजरीवाल का कहना था कि सरकारें जनता से बनती हैं, जनता सरकारों से नहीं बनतीं, अगर जनता इन तीनों क़ानूनों को पसंद नहीं करती को इन्हें तुरंत ख़त्म किया जाए और एमएसपी को लेकर किसानों की फसलें खरीदने की गारंटी क़ानून बनाएं और किसानों की मांगों के तुरंत मंज़ूर करें।

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि किसान आंदोलन को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है, ऐसा नहीं होना चाहिए।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*