?>

किसानों का प्रदर्शन जारी, सरकार का किसानों को फिर से बातचीत का न्योता, अपने मांगों पर अडिग किसान

किसानों का प्रदर्शन जारी, सरकार का किसानों को फिर से बातचीत का न्योता, अपने मांगों पर अडिग किसान

भारत में कृषि से संबंधित तीन क़ानूनों को रद्द कराने की मांग को लेकर, दिल्ली की कई सीमाओं पर जारी किसानों के आंदोलन के बीच, केन्द्र सरकार ने एक बार फिर किसानों को बातचीत का न्योता दिया है।

सरकार ने ख़त लिख कर किसान संगठनों को बातचीत का न्योता दिया है और उनसे बातचीत की तारीख़ तय करने के लिए कहा है। किसानों ने सोमवार को भी भूख हड़ताल की और कहा है कि वे आगे भी भूख हड़ताल जारी रखेंगे। रविवार को सिंघु सीमा पर पुलिस बल ने प्रदर्शन कर रहे किसानों पर आंसू गैस के गोले फ़ायर किए थे। केन्द्र सरकार और किसानों के बीच अब तक पाँच दौर की बातचीत नाकाम रही है।

 

ग़ौरतलब है कि नए कृषि क़ानूनों पर किसानों को इस बात की चिंता है कि इन क़ानूनों से न्यूनतम समर्थन मूल्य एमएसपी और मंडी व्यवस्था ख़त्म हो जाएगी जिससे वे बड़े कॉर्पोरेट्स पर निर्भर हो जाएंगे। किसान संगठनों के साथ गृह मंत्री अमित शाह की बैठक भी नाकाम रही है। किसान अपनी मांग पर डटे हुए हैं और उनकी मुख्य मांग यह है कि संसद का विशेष सत्र बुला कर इन क़ानूनों को वापस लिया जाए। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*