?>

क़रदाही का त्यागपत्र, अरब देशों के साथ संबन्ध बहान करने में सहायक होगाः मीक़ाती

क़रदाही का त्यागपत्र, अरब देशों के साथ संबन्ध बहान करने में सहायक होगाः मीक़ाती

लेबनान के प्रधानमंत्री नजीब मीक़ाती ने कहा है कि देश के सूचना एवं प्रसारण मंत्री का त्यागपत्र, फ़ार्स की खाड़ी के अरब देशों के साथ संबन्धों को सामान्य करने में मददगार होगा।

नजीब मीक़ाती ने शुक्रवार को जार्ज क़रदाही के त्यागपत्र के बारे में कहा कि लेबनान के साथ फ़ार्स की खाड़ी के तटवर्ती देशों के साथ मतभेद उत्पन्न होने के बाद उनका त्यागपत्र ज़रूरी था।

उन्होंने कहा कि हमारा यह प्रयास रहेगा कि अरब देशों के साथ तनाव पैदा न होने पाए।  उनका कहना था कि हम परस्पर सम्मान के आधार पर दूसरे देशों के साथ संबन्धों के पक्षधर हैं।

शुक्रवार को लेबनान के सूचना एवं प्रसारण मंत्री जार्ज क़रदाही ने अपना त्यागपत्र राष्ट्रपति को दे दिया था।  इससे पहले लेबनान के सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा था कि देश के संकट के समाधान के लिए वे अपने पद से त्यागपत्र देने के लिए तैयार हैं।

क़रदाही ने कहा कि मैं पहले ही दिन से यह कहता आ रहा हूं कि अगर लेबनान संकट के समाधान में मेरा त्यागपत्र ज़रूरी है तो मैं इसके लिए तैयार हूं।  कुछ संचार माध्यमों ने गुरूवार को ख़बर दी थी कि लेबनान के सूचना एवं प्रसारण मंत्री शुक्रवार को अपने पद से त्यागपत्र दे सकते हैं।

लेबनान के एमटीवी से बात करते हुए इस देश के सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा कि मैं अपने पद से त्यागपत्र देकर लेबनान और सऊदी अरब के बीच पैदा हुए संकट का समाधान चाहता हूं।

ज्ञात रहे कि लेबनान के सूचना एवं प्रसारण मंत्री जार्ज क़रदाही ने अगस्त में अपने एक इन्टरव्यू में कहा था कि सऊदी अरब और संयुक्त अरब इमारात के हमलों के मुक़ाबले में यमन का अंसारुल्लाह संगठन अपना बचाव कर रहा है।  उन्होंने कहा कि हमला करने वाले पक्षों को यह हमले बंद कर देना चाहिए।

जार्ज क़रदाही के इस बयान के बाद सऊदी अरब, बहरैन और संयुक्त अरब इमारात ने अपने-अपने राजदूतों को लेबनान से वापस बुला लिया था।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*