?>

कनाडा से भारत नाराज़, कहा प्रभावित हो सकते हैं संबन्ध

कनाडा से भारत नाराज़, कहा प्रभावित हो सकते हैं संबन्ध

भारत ने कनाडा से नाराज़गी जताते हुए इस देश के उच्चायुक्त को तलब किया है।

भारत में चल रहे किसान आन्दोलन पर कनाडा के प्रधानमंत्री के बयान से नाराज़ भारत ने इसका कड़ा विरोध किया है।  शुक्रवार को नई दिल्ली स्थित कनाडा के उच्चायुक्त को भारत के विदेश मंत्रालय तलब किया गया।  विदेश मंत्रालय में उन्हें बताया गया कि देश के आंतरिक मामलों में कनाडा का हस्तक्षेप सहन योग्य नहीं है।  मंत्रालय में कनाडा के उच्चायुक्त से कहा गया कि भारतीय किसानों से संबन्धित मुद्दे पर कनाडा के प्रधानमंत्री, कुछ कैबिनेट मंत्रियों और सांसदों की टिप्पणियां, भारत के आंतरिक मामलों में खुला हस्तक्षेप है जिसे सहन नहीं किया जाएगा।  भारतीय विदेश मंत्रालय के अनुसार इस बात का कनाडा और भारत के संबन्धों पर हानिकारक प्रभाव पड़ेगा।  भारत का कहना है कि इन्हीं टिप्पणियों ने कनाडा में हमारे उच्चायोग और वाणिज्य दूतावास के बाहर चरमपंथी गतिविधियों की सभाओं को प्रोत्साहित किया है।

याद रहे कि कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने भारत में जारी किसान प्रदर्शनों पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि कनाडा, शांतिपूर्ण प्रदर्शनों के अधिकारों की हमेशा रक्षा के लिए खड़ा रहेगा।  उन्होंने कहा था कि भारत में किसान प्रदर्शनों के कारण स्थति चिंताजनक है।  दूसरी ओर कनाडा के रक्षामंत्री हरजीत सज्जन ने भी भारत में वर्तमान स्थिति को लेकर चिंता जताई।  उन्होंने ट्वीट किया था कि शांतिपूर्ण प्रदर्शनों पर क्रूरता दिखाना परेशान करने वाला है।

उल्लेखनीय है कि कृषि क़ानूनों के विरोध को लेकर भारत में पिछले आठ दिनों से किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं जिन्होंने राजधानी दिल्ली की सीमाओं की घेराबंदी कर रखी है और अपनी मांगें पूरी होने तक वे वापस जाने को तैयार नहीं हैं।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*