?>

कनाडा में मुस्लिम परिवार को ट्रक से कुचलने वाली घटना में आया नया मोड़, हत्यारे पर अब चलेगा आतंकवाद का मुक़द्दमा

कनाडा में मुस्लिम परिवार को ट्रक से कुचलने वाली घटना में आया नया मोड़, हत्यारे पर अब चलेगा आतंकवाद का मुक़द्दमा

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो द्वारा हालिया हत्याकांड को "घृणा से प्रेरित एक आतंकवादी हमला" बताए जाने के बाद पाकिस्तानी मुस्लिम परिवार को ट्रक से कुचलने वाले पर अब आतंकवाद की धाराओं के तहत मुक़द्दमा चलेगा।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, कनाडा के ओंटारियो में एक मुस्लिम परिवार को ट्रक से कुचलने वाले 20 वर्षीय चालक पर आतंकवाद से जुड़े आरोप लगाए गए हैं। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने इसे आतंकी घटना क़रार दिया था, जिसके बाद सोमवार 14 जून को अभियोजकों ने जानकारी दी कि आरोपी पर आतंकवाद की धाराएं लगाई गई हैं। 6 जून को अफ़ज़ाल परिवार के चार सदस्य-एक परुष और उसकी पत्नी, एक लड़की और उसकी मां, ओंटारियो में टहलने के लिए निकले थे। उसी दौरान 20 साल के नथेनियल वेल्टमन ने अपने ट्रक से उन्हें कुचल डाला था। इस हादसे में एक बच्चा गंभीर रूप से घायल हुआ था और उसका इलाज अस्पताल में चल रहा है। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने पूरे घटनाक्रम की कड़ी निंदा करते हुए इसे आतंकी घटना क़रार दिया था। वेल्टमन के ख़िलाफ़ हत्या और हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया था लेकिन अब इसमें आतंकवाद से जुड़े आरोप भी शामिल कर दिए गए हैं। वेल्टमन ने इस परिवार को सिर्फ़ इसलिए अपने ट्रक से कुचल डाला था कि यह एक मुस्लिम परिवार था।

कनाडा की पुलिस ने एक बयान में कहा है कि "संघीय और प्रांतीय अटॉर्नी जनरलों ने आतंकवाद से जुड़े आरोपों की कार्यवाही शुरू करने के लिए अपनी सहमति दे दी है। हत्या और हत्या का प्रयास भी आतंकवादी गतिविधि स्थापित करता है।" अफ़ज़ाल का नौ साल का बेटा इस हादसे में बच गया था, लेकिन उसे गंभीर चोटें आई थीं। ट्रूडो ने हाउस ऑफ़ कॉमन्स में एक भाषण में कहा था, "यह हत्या कोई दुर्घटना नहीं थी। यह हमारे एक समुदाय के दिल में ऩफरत से प्रेरित एक आतंकवादी हमला था।" वहीं इस घटना पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि कनाडा में पाकिस्तानी मूल के नागरिकों की हत्या एक आतंकी कार्यवाही है जो इस्लामोफ़ोबिया के कारण हुई। उन्होंने कहा था कि इस्लामोफ़ोबिया से मुक़ाबला करने के उद्देश्य से विश्व समुदाय को आगे आना होगा। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने कहा कि यह घटना बताती है कि पश्चिम में इस्लामोफ़ोबिया कितनी तेज़ी से बढ़ रहा है। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*