?>

ऑक्सीजन की कमी पर केंद्र सरकार को दिल्ली हाईकोर्ट की फटकार, केंद्र ने आंखों पर पट्टी बांध रखी है!

ऑक्सीजन की कमी पर केंद्र सरकार को दिल्ली हाईकोर्ट की फटकार, केंद्र ने आंखों पर पट्टी बांध रखी है!

भारत में ऑक्सीजन की कमी पर केंद्र सरकार को दिल्ली हाईकोर्ट ने फटकार लगाम है और कहा है कि उसने आंखों पर पट्टी बांध रखी है लेकिन हम लोगों को मरता हुआ नहीं देख सकते।

दिल्ली हाईकोर्ट में मंगलवार को ऑक्सीजन की कमी को लेकर सुनवाई हुई। हाईकोर्ट ने इस दौरान केंद्र सरकार को फटकार लगाई और कहा कि देश में जो स्थिति है, उसे देखकर आप अंधे हो सकते हैं, हम नहीं और हम लोगों को मरता हुआ नहीं देख सकते। दिल्ली उच्च न्यायालय ने कहा कि केंद्र ने तो आंखों पर पट्टी बांध ली है लेकिन हम ऐसा नहीं कर सकते। हाईकोर्ट में एमिकस क्यूरी ने जानकारी दी है कि दिल्ली में कई लोग ऑक्सीजन की कमी की वजह से मर रहे हैं। हाईकोर्ट में एमेकस क्यूरी ने सुझाव दिया है कि कुछ जगह पर ऑक्सीजन को स्टोर किया जा सकता है, जिससे कमी का संकट कम हो। इस पर हाईकोर्ट ने केंद्र सरकार से कहा है कि अगर महाराष्ट्र में इस वक्त ऑक्सीजन की खपत कम है, तो वहां के कुछ टैंकर दिल्ली भेजे जा सकते हैं।

 

इस बीच दिल्ली में कोरोना से मरने वाले लोगों को श्मसान घाटों और क़ब्रिस्तानों में जगह नहीं मिल पा रही है। कई जगह मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए दो से तीन दिन लग रहे हैं। इस स्थिति को चिंताजनक बताते हुए दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका दायर करके मांग की गई है कि दिल्ली सरकार और तीनों नगर निगमों को आदेश दिया जाए कि शहर में मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए जगह बढ़ाई जाए। हाई कोर्ट ने याचिका का संज्ञान लेते हुए सभी पक्षों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*