?>

ऐसा लगता है कि उत्तरी तथा दक्षिणी कोरिया को आपस में टकराकर ही दम लेगा अमरीका

ऐसा लगता है कि उत्तरी तथा दक्षिणी कोरिया को आपस में टकराकर ही दम लेगा अमरीका

कोरिया प्रायःद्वीप में अमरीका के घटक एवं उसके विश्वासपात्र दक्षिणी कोरिया ने उत्तरी कोरिया की प्रगति पर गहरी चिंता जताई है।

दक्षिणी कोरिया के रक्षामंत्रालय ने मंगलवार को एक बयान जारी किया है।  इस बयान में सियोल की ओर से कहा गया है कि उत्तरी कोरिया ने अपनी मिसाइल क्षमता को बढ़ाते हुए अपने विशेष सैन्य बलों की संख्या में ही वृद्धि की है।

दक्षिणी कोरिया की ओर से यह भी बताया गया है कि हाल ही में उत्तरी कोरिया की सैन्य शक्ति के संबन्ध में उसे एक गोपनीय रिपोर्ट हासिल हुई है।  दक्षिणी कोरिया के अनुसार उत्तरी कोरिया की इस गोपनीय स्ट्रैटेजिक रिपोर्ट में नई उन्नत रक्षा प्रणालियों के निर्माण की बात कही गई है।  इस रिपोर्ट के आधार पर मिसाइल इकाइयों की संख्या को 9 से बढ़ाकर 13 कर दिया गया।  इसमें बताया गया है कि सन 2018 में यह संख्या 9 थी जिसको 2020 तक 13 कर दिया गया है।

यहां पर इस बात का उल्लेखनीय है कि उत्तरी कोरिया के नेता किम जांग ऊन कई बार यह एलान कर चुके हैं कि क्षेत्र में अमरीका और उसके घटकों के विस्तारवाद के सामने वे किसी भी स्थिति में झुकने वाले नहीं हैं।  उनका कहना है कि अमरीका के साथ मिलकर दक्षिणी कोरिया, कोरिया प्रायःद्वीप में अशांति फैला रहा है।  इससे पहले दक्षिणी कोरिया की ओर से कहा जा चुका है कि वह उत्तरी कोरिया की संभावित कार्यवाहियों का मुक़ाबला करने के लिए पूरी तरह से तैयार है।

ज्ञात रहे कि उत्तरी कोरिया के विदेश मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने क्षेत्र के बारे में अमरीका के क्रियाकलापों की कड़ी आलोचना करते हुए कहा था कि कोरिया प्रायःद्वीप की वर्तमान स्थिति को अमरीका ने बहुत ही जटिल बना दिया है।  कूंगजूंग गान ने कहा था कि अमरीका की ग़ैर ज़िम्मेदाराना नीतियों के कारण कोरिया प्रायःद्वीप की स्थिति को बहुत ही जटिल हो चुकी है।  उन्होंने कहा कि कोरिया प्रायःद्वीप के बारे में अमरीका की ग़लत नीतियां ही प्यूंगयांग के परमाणु कार्यक्रम के आगे बढ़ने का कारण बन रही हैं।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*