?>

ईसा मसीह के शुभ जन्म दिवस पर याद किये गए ईरान के ईसाई शहीद

ईसा मसीह के शुभ जन्म दिवस पर याद किये गए ईरान के ईसाई शहीद

ईसा मसीह के शुभ जन्म दिवस के अवसर पर ईरान के ईसाई शहीद की याद ताज़ा की गई।

ईरान पर थोपे गए आठ वर्षीय युद्ध में केवल मुसलमान ईरानी ही शहीद नहीं हुए बल्कि बहुत से ईसाई ईरानी भी इस युद्ध में शहीद हुए।

हज़रत ईसा मसीह के शुभ जन्म दिवस के अवसर पर ईरान के राष्ट्रपति सैयद इब्राहीम रईसी ने ईरान पर थोपे गए युद्ध में शहीद होने वाले ईसाईयों के परिजनों से मुलाक़ात की।

इस मुलाक़ात में राष्ट्रपति रईसी ने कहा कि हर वह व्यक्ति जो मातृभूमि, राष्ट्र और समाज के लिए अपनी जान न्योछावर करने के लिए तैयार रहता है वह हमारे निकट प्रिय है।  ईरान के राष्ट्रपति ने कहा कि यही कारण है कि ईरानी राष्ट्र के निकट शहीदों को विशेष सम्मान हासिल है।

ईसा मसीह के जन्म दिवस पर  सैयद इब्राहीम रईसी ने विश्व के सारे इसाईयों को मुबारकबाद दी थी। ईरान के राष्ट्रपति का कहना है कि ईसा मसीह का शुभ जन्मदिन, परोपकार के प्रतीक को याद करने का अवसर है।

उन्होंने कहा कि यह शुभ जन्म दिवस, जहां मानवता के लिए ईसा मसीद द्वारा दिये जाने वाले बलिदान की याद ताज़ा करता है वहीं पर अत्याचारियों के मुक़ाबले में खड़े होने की हमें हिम्मत  भी देता है।

याद रहे कि इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता आयतुल्लाहिल उज़्मा पिछले वर्षों के दौरान ईरान के ईसाई शहीदों के घरवालों से कई बार मुलाक़ातें करते रहे हैं।उल्लेखनीय है कि ईरान पर थोपे गए आठ वर्षीय युद्ध के दौरान देश के ईसाई समुदाय के 74 लोग शहीद हुए थे।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*