?>

आले सऊद, आतंकवाद के आर्थिक समर्थक हैंः ईरान

आले सऊद, आतंकवाद के आर्थिक समर्थक हैंः ईरान

संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा में ईरान के प्रतिनिधि ने बल देकर कहा है कि आले सऊद के लोग आतंकवाद के आर्थिक समर्थक हैं।

अब्बास गुलरू ने ईरान के ख़िलाफ़ सऊदी अरब के विदेश मंत्री आदिल अलजुबैर के निराधार दावों की प्रतिक्रिया में कहा है कि दुनिया में सभी जानते हैं कि सऊदी अरब आतंकवाद का आर्थिक समर्थक और क्षेत्र व संसार में अस्थिरता का कारण है। उन्होंने इस बात का उल्लेख करते हुए कि सऊदी अरब विचार व तर्क की कूटनीति से नहीं बल्कि पैसे की कूटनीति से काम लेता है, कहा कि जिस जगह भी आले सऊद को अपने अवैध हित ख़तरे में दिखाई देते हैं, उस जगह को वे बेहिसाब धन ख़र्च करके और आतंकवाद की मदद करके अस्थिर बना देते हैं। संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा में ईरान के प्रतिनिधि ने सऊदी अरब से बल देकर मांग की कि वह आतंकवाद का समर्थन छोड़ दे और ईरान पर निराधार आरोप लगाना बंद करे।

 

अब्बास गुलरू ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि ईरान उन देशों के लिए सच्चा पड़ोसी है जो ईरान के साथ अपने संबंधों में सच्चे हैं। उन्होंने कहा कि बातचीत के लिए ईरान के दरवाज़े हमेशा खुले हुए हैं। ज्ञात रहे कि ऊदी अरब के विदेश मंत्री आदिल अलजुबैर ने संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा के अधिवेशन में अमरीका व इस्राईल की हां में हां मिलाते हुए ईरान पर आतंकवाद के समर्थन का आरोप लगाया था और दावा किया था कि ईरान मध्यपूर्व में अस्थिरता बढ़ा रहा है। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*