?>

अमेरिका की ईरान दुश्मनी।

अमेरिका की ईरान दुश्मनी।

अमेरिका कह रहा है क्षेत्र की समस्याओं में हमारे साथ बातचीत करेगा लेकिन हम उन समस्याओं का हल बातचीत नहीं समझते हैं हम ना ही अमेरिका के साथ बातचीत करेंगे और ना किसी और के साथ। परमाणु समझौते की सिलसिले में ट्रंप की बेहूदा बातों का जवाब हम मिसाइल से देंगे।

अहलेबैत (अ )न्यूज़ एजेंसी अबना : सिपाह न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार सरदार जाफरी ने सिपाह की एक स्टरेटेजिक काउंसिल मीटिंग में भाषण देते हुए कहा कि अमेरिकी सरकार की तरफ से कहा जा रहा है कि सिपाहे पास्दारान को ब्लैक लिस्ट में रखेंगे इसके अलावा पिछले कुछ महीनों में इस देश की तरफ से ईरान दुश्मनी के संबंध में कई बार कार्यवाई की जा चुकी है, उन्होंने आगे कहा कि इस्लामी राष्ट्र ईरान कास्ता लॉ को अमेरिका की तरफ से परमाणु समझौते की खुली खिलाफ़ वर्ज़ी मान रहा है। सरदार जाफरी ने आगे कहा की जैसा की हम पहले भी कह चुके हैं कि अगर अमेरिका की तरफ से और पाबंदिया लगती हैं तो यह क्षेत्र में मौजूद अपने सैनिक अड्डों को हमारी मिसाइलों से बचाने के लिए 2000 किलोमीटर दूर ले जाए ।अमेरिका कह रहा है क्षेत्र की समस्याओं में हमारे साथ बातचीत करेगा लेकिन हम उन समस्याओं का हल बातचीत नहीं समझते हैं हम ना ही अमेरिका के साथ बातचीत करेंगे और ना किसी और के साथ। परमाणु समझौते की सिलसिले में ट्रंप की बेहूदा बातों का जवाब हम मिसाइल से देंगे।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*