ईरानी विदेश मंत्री:

अमरीका की ओर से सीरिया में थलसेना भेजने का निर्णय खतरनाक है।

अमरीका की ओर से सीरिया में थलसेना भेजने का निर्णय खतरनाक है।

अमरीका की ओर से सीरिया में थलसेना भेजने का निर्णय ख़तरनाक है और इस निर्णय से क्षेत्र में चरमपंथी और अशांति में और अधिक वृद्धि होगी

अहलेबैत न्यूज़ एजेंसी अबना: रिपोर्ट के अनुसार ईरान के विदेशमंत्री मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने जर्मनी और म्यूनिख़ सिक्योरिटी कॉंफ़्रेंस के अवसर पर अमरीकी चैनल सीएनएन के रिपोर्टर क्रिस्टेन अमानपुर को स्पेशल इंटरव्यू देते हुए कहा कि अमरीका की ओर से सीरिया में थलसेना भेजने का निर्णय ख़तरनाक है और इस निर्णय से क्षेत्र में चरमपंथ और अशांति में और अधिक वृद्धि होगी
उन्होंने सीरिया में थलसेना भेजने की अमरीकी योजना को क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा बताया और कहा कि इराक़ में अमरीकी सैनिकों की उपस्थिति आईएस जैसे संगठन की स्थापना का कारण बनी और अब सीरिया में सेना भेजने का निर्णय क्षेत्र के लिए अतयंत हानिकारक होगा।
ज़रीफ़ ने इस बात पर बल देते हुए कहा कि समस्या के समाधान के लिए ऐसे तरीके इस्तेमाल नहीं करने चाहिए जिससे वर्तमान समस्याऐं और अधिक जटिल न हों विशेष रूप से सीरिया की जनता की इच्छाओं को अनदेखा करके इस देश में विदेशी सेना की मौजूदगी से चरमपंथ में वृद्धि होगी और स्थिति और अधिक गंभीर हो जाएगी।
उन्होंने सीरिया में युद्ध विराम के कार्यान्वयन पर बल देते हुए कहा कि जिन लोगों ने आईएस को बनाया यह वही थे जो सद्दाम को हथियार उपलब्ध कराते रहे और अलक़ायदा बना कर उसे हथियारों से लैस करते रहे। ईरान के विरुद्ध अमरीकी फ़ैसलों का ज़िक्र करते हुए उन्होने इस बात पर बल दिया कि जो लोग ईरान को जानते हैं उन्हें मालूम है कि ईरानी जनता के सामने धमकियों की कोई हैसियत नहीं है इसलिए हमारे साथ आदर और सम्मान के साथ व्यवहार करना चाहिए।
ईरान के परमाणु समझौते के बारे में उनका कहना था कि इस समझौते के पूरी तरह से कार्यान्वयन के लिए पश्चिमी पक्षों सहित विश्व समुदाय को सामूहिक सहयोग बढ़ाने की अत्यंत आवश्यकता है।
ज्ञात रहे कि विदेशमंत्री मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ 53 वीं म्यूनिख़ सिक्योरिटी कॉफ़्रेंस में शिरकत करने के लिए कल सुबह जर्मनी के म्यूनिख़ शहर पहुँचे।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

پیام رهبر انقلاب به مسلمانان جهان به مناسبت حج 1440 / 2019
conference-abu-talib
We are All Zakzaky