?>

ईरान ... इलाक़े का सबसे प्रजातांत्रिक देश, पश्चिमी मीडिया को सुबह के बाद शाम को भी लगा दूसरा झटका, मतदान केंद्रों पर अब भी लगी हुई हैं लम्बी लम्बी क़तारें!

ईरान ... इलाक़े का सबसे प्रजातांत्रिक देश, पश्चिमी मीडिया को सुबह के बाद शाम को भी लगा दूसरा झटका, मतदान केंद्रों पर अब भी लगी हुई हैं लम्बी लम्बी क़तारें!

ईरान के नेताओं ने इस्लामी क्रांति की कामयाबी के बाद से हमेशा, चुनावों में जनता की भरपूर भागीदारी पर ज़ोर दिया है।

ईरान में 13वें राष्ट्रपति और छठे नगर व ग्राम परिषद चुनाव के लिए मतदान पूरे ईरान में 18 जून शुक्रवार की सुबह सात बजे शुरू हुआ और विदेशी मीडिया की अपेक्षा के विपरीत लोग, मतदान शुरू होने से एक घंटे पहले ही मतदान केंद्रों के बाहर लम्बी लम्बी लाइनें लगा कर खड़े हो गए थे जिससे विदेशी ही नहीं ईरानी मीडिया भी भौंचक्का रह गया। कई मीडिया चैनलों के रिपोर्टरों ने कहा कि मतदान केंद्रों पर उनके पहुंचने से पहले ही लोग लम्बी लम्बी क़तारों में खड़े हो गए थे।

 

लोगों की यह भारी उपस्थिति इतनी ध्यान योग्य थी कि चुनाव आयोजित करने वालों को भी इसका अनुमान नहीं था और इसी लिए कई प्रांतों में चुनाव के आयोजनकर्ता भी मतदान केंद्रों पर जनता से पीछे रह गए जिसकी लोगों और कई उम्मीदवारों ने आलोचना भी की। 11 बजे तक लोगों की क़तारें अधिकतर मतदान केंद्रों के बाहर दिखाई दीं लेकिन उसके बाद भारी गर्मी के कारण तेहरान बल्कि देश के अधिकतर भागों में लोगों ने शाम को मतदान करना उचित समझा। यही वजह थी कि दोपहर और उसके बाद मतदान केंद्रों पर लोगों की उपस्थिति कम रही लेकिन शाम बजे, गर्मी कम होने के बाद फिर लोगों की भीड़ मतदान केंद्रों पर उमड़ आई और सुबह की तरह की मतदान केंद्रों पर लम्बी लम्बी क़तारें लग गईं और दोपहर की रिपोर्टिंग करने वाले विदेशी मीडिया को दूसरा झटका लगा।

 

इस समय भी मतदान केंद्रों पर लोगों की भारी भीड़ है और मतदान के समय में दो बार दो-दो घंटे की वृद्धि की जा चुकी है और उम्मीद है कि रात में मतदान करने वालों की संख्या और ज़्यादा हो जाएगा और संभव है कि कुछ केंद्रों पर मतदान के अंतिम क़ानूनी समय यानी रात बारह बजे तक यह भीड़ जारी रहे। टीकाकारों का कहना है कि ईरान में राष्ट्रपति चुनाव, एक संपूर्ण प्रजातांत्रिक चुनाव है जिसमें लोग अपने सीधे वोटों से अपने राष्ट्रपति का चयन करते हैं और इसी लिए यह चुनाव प्रजातंत्र का चरम है। (HN)

 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*