?>

ईरानी मीज़ाइलों की मार का असर, 34 अमरीकी सैनिक मानसिक संतुलन खो बैठे

ईरानी मीज़ाइलों की मार का असर, 34 अमरीकी सैनिक मानसिक संतुलन खो बैठे

पेन्टागन के प्रवक्ता ने पुष्टि की है कि ईरान के मीज़ाइल हमले की वजह से कम से कम 34 अमरीकी सैनिक मानसिक रोग में ग्रस्त हो गये हैं।

प्रवक्ता का कहना है कि एनुल असद पर ईरान के मीज़ाइल हमलों की वजह से 34 सैनिक कम या ज़्यादा मानसिक रोग का शिकार हो गये हैं।

डिफ़ेन्स वन नामक वेबसाइट की रिपोर्ट के अनुसार अमरीकी युद्धमंत्रालय के प्रवक्ता जोनाथन हाफ़मैन ने एक प्रेस कांफ़्रेंस में पुष्टि की कि इराक़ में अमरीकी छावनी एनुल असद पर ईरान के मीज़ाइल हमलों के दौरान 34 सैनिकों को मानसिक सदमा पहुंचा है और उनका उपचार चल रहा है। उनका कहना था कि कुछ सैनिकों को बहुत अधिक सदमा पहुंचा है जिनको उपचार के लिए इराक़ से बाहर भर्ती कराया गया है।

अमरीका के इस अधिकारी ने एनुल असद सैन्य छावनी पर ईरान के मीज़ाइल हमले में घायल होने वाले सैनिकों की संख्या के बारे में अब तक 34 सैनिकों के मानसिक रोग में ग्रस्त होने की पहचान हुई है जिनमें से 8 सैनिकों को जर्मनी भेजा गया और उपचार के बाद अमरीका लायागया है। उनका कहना था कि जर्मनी भेजे गये 9 सैनिक अभी वहीं भर्ती हैं और उनका उपचार चल रहा है, एक सैनिक को कुवैत भेजा गया जिसे इराक़ में दोबारा भेज दिया गया जबकि 16 सैनिक इराक़ में हैं और अब वह अपने ठिकाने पर वापस पहुंच गये हैं।

ज्ञात रहे कि ईरान के मीज़ाइल हमले के बाद अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने घोषणा की थी कि ईरान के हमले के बाद कोई भी सैनिक हताहत व घायल नहीं हुआ जबकि अमरीका की ओर से बाद में 11 सैनिकों के घायल होने की बात स्वीकार की गयी।

अमरीकी युद्धमंत्रालय की यह स्वीकारोक्ति ऐसी स्थिति में है कि ईरान का कहना है कि मीज़ाइल हमले में अमरीका के 80 सैनिक मारे गये और 200 से अधिक घायल हुए हैं।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*