?>

इस्राईल के साथ कभी भी अपने संबन्ध सामान्य नहीं करेंगेः ओमान

इस्राईल के साथ कभी भी अपने संबन्ध सामान्य नहीं करेंगेः ओमान

ओमान के विदेशमंत्री ने घोषणा की है कि उनका देश कभी भी इस्राईल के साथ सांठगांठ नहीं करेगा।

बद्र अलबूसईद ने रविवार को फ्रांसीसी समाचारपत्र ली-फ़िगारों को दिये इन्टरव्यू में कहा कि फ़ार्स की खाड़ी के तटवर्ती देशों में ओमान ही वह देश था जिसने सन 1979 में कैंप डेविड समझौते के ससमय इस्राईलियों और फ़िलिस्तीनियों के बीच होने वाले समझौते का समर्थन किया था।

उन्होंने कहा कि ओमान कभी भी इस्राईल के साथ संबन्धों को सामान्य नहीं बनाएगा क्योंकि हम उसी योजना का समर्थन करते हैं जिसे फ़िलिस्तीनियों का समर्थन हासिल हो।

ओमान के विदेशमंत्री का कहना था कि कोई भी समझौता दो देशों के आधार पर होना चाहिए जो फ़िलिस्तीनी समस्या के स्थाई समाधान के परिप्रेक्ष्य में हो।  अलबूसईद का कहना था कि वर्तमान समय में अमरीका पश्चिमी एशिया में अपने सैन्य बलों में थोड़ा सा परिवर्तन कर रहा है किंतु वह यहां से जाने वाला नहीं है।

कुछ अरब देशों ने इस्राईल के साथ एसी स्थति में अपने संबन्ध सामान्य किये हैं कि वह आए दिन फ़िलिस्तीनियों के विरुद्ध हिंसक कार्यवाहियां करता रहता है।  सन 1967 से लेकर 2018 तक इस शासन ने 45 से अधिक फ़िलिस्तीनियों की हत्याएं की हैं।  इस दौरान घायल होने वाले फ़िलिस्तीनियों की संख्या बहुत अधिक है।

उल्लेखनीय है कि अमरीका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के दबाव के कारण संयुक्त अरब इमारात, बहरैन, सूडान और मोरक्को ने आधिकारिक रूप में इस्राईल से अपने संबन्ध सामान्य कर लिए हैं।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*