?>

इस्राईली तंत्र विघटित हो रहे हैं" नफ़्ताली बेनेट

इस्राईली तंत्र विघटित हो रहे हैं

इस्राईली प्रधानमंत्री ने जल्बू जेल से 6 फिलिस्तीनी बंदियों के भाग जाने को जायोनी शासन की विफलता बताया और स्वीकार किया कि इस्राईली तंत्रों का विघटन हो रहा है।

समाचार एजेन्सी टीआरटी के अनुसार नफ्ताली बेनेट ने आज रविवार को मंत्रिमंडल की साप्ताहिक बैठक में कहा कि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बावजूद सुरंग खोद कर 6 फिलिस्तीनियों के जल्बू जेल से भाग जाना जायोनी शासन की विफलता है।

उन्होंने इस्राईल की जेल से फिलिस्तीनी बंदियों के भाग जाने को इस्राईली सुरक्षा तंत्र की विफलता का नतीजा बताया और उसमें सुधार की मांग की। ज़ायोनी प्रधानमंत्री ने कहा कि जो ग़लतियां व नाकामियां हुई हैं उनमें सुधार के लिए हमने बहुत प्रयास किया है।

नफ्ताली बेनेट ने कहा कि फिलिस्तीनियों के जेल से भाग जाने के मामले की समीक्षा के लिए हमने एक समिति गठित किये जाने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि प्रतीत यह हो रहा है कि हालिया वर्षों में इस्राईल के कुछ सुरक्षा तंत्रों में कमज़ोरी व खराबी आ गयी है और उनमें सुधार ज़रूरी हो गया है।

ज्ञात रहे कि 6 फिलिस्तीनी कैदी जो इस्राईल की जेल से भाग थे उनमें से चार को दोबारा गिरफ्तार कर लिया गया है और उन चारों में से एक की स्थिति खराब होने के कारण उसे अस्पताल में भर्ती कर दिया गया है।

इस्राईली सूत्रों के अनुसार जिस फिलिस्तीनी बंदी को अस्पताल में भर्ती किया गया है उसका नाम ज़करिया ज़ुबैदी है और दोबारा गिरफ्तार किये जाने के बाद जायोनी सैनिकों ने उसे बहुत मारा- पीटा और यातना दी। सूत्रों के अनुसार ज़करिया ज़ुबैदी के शरीर पर प्रताड़ना और घाव के चिन्हों को साफ तौर देखा जा सकता है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*