इराक़, ईरान पर लगने वाले प्रतिबंधों पर चुप नहीं रहेगा: अम्मार हकीम

इराक़,  ईरान पर लगने वाले प्रतिबंधों पर चुप नहीं रहेगा: अम्मार हकीम

इराक़ की राष्ट्रीय हिकमत पार्टी के प्रमुख अम्मार हकीम ने कहा है कि ईरान पर लगे प्रतिबंध न तो इराक़ के हित में हैं और न ही क्षेत्र के हित में हैं। उन्होंने कहा कि हम इन पाबंदियों पर चुप नहीं रहेंगे।

इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार, इराक़ की राष्ट्रीय हिकमत पार्टी के प्रमुख अम्मार हकीम ने ईरान पर लगे प्रतिबंधों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प को चेतावनी दी है कि इराक़, ईरान पर लगाए जाने वाले प्रतिबंधों पर हाथ पर हाथ रखे नहीं बैठेगा। अम्मार हकीम ने कहा कि अमेरिका यह कैसे सोच सकता है कि हम ईरान विरोधी गतिविधियों में वॉशिंग्टन का साथ देंगे। उन्होंने कहा कि हम ट्रम्प को यह स्पष्ट कर देना चाहते हैं कि इराक़, ईरान पर लगाए जाने वाले आर्थिक प्रतिबंधों पर चुप नहीं बैठेगा।

अम्मार हकीम ने कहा कि आज दुनिया देख रही है कि अमेरिका की युद्धोन्मादी नीतियों और प्रतिबंधों के परिणामस्वरूप मध्यपूर्व में युद्ध और आतंकवाद के कारण अशांति में वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि हम अमेरिका से यह मांग करते हैं कि वह ईरान विरोधी अपनी नीतियों पर पुनर्विचार करे। अम्मार कहीम ने कहा कि ईरान के साथ इराक़ के घनिष्ठ स्ट्रैटेजिकधार्मिक,ऐतिहासिक, सांस्कृतिक और व्यापारिक संबन्ध हैं। उन्होंने कहा कि ईरान को कमज़ोर करना किसी भी स्थिति में इराक़ या किसी अन्य क्षेत्रीय देश के हित में नहीं है।  उन्होंने कहा कि यह पूरे क्षेत्र को प्रभावित कर सकता है।

इराक़ की राष्ट्रीय हिकमत पार्टी के प्रमुख ने वॉशिंग्टन को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर अमेरिका ईरान विरोधी अपनी नीतियों पर पुनर्विचार नहीं करता है तो ईरान के साथ-साथ क्षेत्र में अमेरिका का एक और घोर विरोधी इराक़ की सूरत में उसे मिल जाएगा। उन्होंने कहा कि हम क्षेत्र की जनता के ख़िलाफ़ लगाई जाने वाली अत्याचारपूर्ण पाबंदियों का विरोध करते हैं और कभी भी किसी को इस बात की अनुमति नहीं देंगे कि उसके कारण हमारे राष्ट्रीय हितों को नुक़सान पहुंचे।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

आशूरा: सृष्टि का राज़
پیام رهبر انقلاب به مسلمانان جهان به مناسبت حج 1441 / 2020
conference-abu-talib
We are All Zakzaky
सेंचुरी डील स्वीकार नहीं