?>

इराक़ से अमरीकी सैनिकों की वापसी अभी भी असमंजस्य में

इराक़ से अमरीकी सैनिकों की वापसी अभी भी असमंजस्य में

अमरीकी अभी और इराक़ में बाक़ी रहना चाहते हैं हालांकि उनके वापस जाने की तारीख़ बहुत निकट आ गई है।

इराक़ से अमरीकी सैनिकों की वापसी की तिथि जैसे-जैसे निकट आ रही है वैसे-वैस उनके वहां से न जाने के बारे में समाचार और रिपोर्टें सामने आ रही हैं।

एक पूर्व अमरीकी कूटनयिक ने बताया है कि इराक़ में मौजूद अमरीकी सैनिक सन 2021 के बाद भी इस देश में बाक़ी रहेंगे।  अमरीकी विदेश मंत्रालय के इस पूर्व कूटनयिक ने कहा कि अमरीकी सरकार अपने सैनिकों को अभी इराक़ से निकालने का इरादा नहीं रखती।

डेविड शेंकर ने मंगलवार को दावा किया कि इराक़ में हालिया दिनों मे होने वाले आतंकी हमलों के कारण अमरीकी सैनिक इराक़ में ही बने रहेंगे वहां से नहीं जाएंगे।  इराक़ी संसद के प्रस्ताव तथा बग़दाद और अमरीका के बीच होने वाले समझौते के आधार पर सन 2021 के अंत तक अमरीकी सैनिकों को इराक़ छोड़कर चले जाना है।

अमरीका अब भी विभिन्न बहानों से इस प्रयास में है कि इराक़ में उसके सैनिक बाक़ी रहें वापस न जाएं।  दूसरी ओर इराक़ की जनता और वहां के राजनैतिक दल सब ही अपने देश में अमरीकी सैनिकों की वापसी के तत्काल वापस चले जाने के हक़ में हैं।  इराक़ के कई प्रतिरोधक गुट पहले ही कह चुके हैं कि अगर निर्धारित समय पर अमरीकी सैनिक देश से वापस नहीं गए तो हम फिर उनको ज़बरदस्ती निकाल देंगे।

ज्ञात रहे कि अमरीकी सैनिक सन 2003 से इराक़ में मौजूद हैं।अधिकतर अमरीकी सैनिक इराक़ के अलअंबार प्रांत की एनुल असद छावनी में हैं।  इसी बीच इराक़ी सूत्रों ने बताया है कि देश से अमरीका के आतंकवादी सैनिकों के निष्कासन की तारीख़ निकट आने की वजह से अमरीकी सैनिकों के ठिकाने, एनुल असद छावनी की सुरक्षा बहुत बढ़ा दी गई है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*