?>

आज भी कर्बला की जंग जारी हैः अब्दुल मलिक हूसी

आज भी कर्बला की जंग जारी हैः अब्दुल मलिक हूसी

यमन के जनांदोलन अंसारुल्लाह के महासचिव अब्दुल मलिक बदरुद्दीन अलहूसी ने यमन, दबावों के मुक़ाबले में ईरान का समर्थन करेगा।

(ABNA24.com) यमन के जनांदोलन अंसारुल्लाह के महासचिव अब्दुल मलिक बदरुद्दीन अलहूसी ने यमन, दबावों के मुक़ाबले में ईरान का समर्थन करेगा।

उन्होंने आशूर के दिन राजधानी सनआ में दसियों हज़ार श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कहा कि यमन युद्ध में अब तक दसियों हज़ार लोग हताहत और घायल हो चुके हैं जबकि लाखों लोग बेघर हुए हैं। उनका कहना था कि इससे यमन की जनता का अत्याचारग्रस्त होना सिद्ध होता है और यमन का मैदान, वर्तमान कर्बला का मैदान है।

सैयद बदरुद्दीन अलहूसी ने यह बयान करते हुए कि यमन की जनता, ईरान, लेबनान, सीरिया और बहरैन की जनता से सहृदयता व्यक्त करती है। उनका कहना था कि यमन की प्रतिरोधकर्ता जनता अपनी स्वाधीनता का सौदा नहीं करेगी और उसका दृष्टिकोण इस्राईल से दुश्मनी, फ़िलिस्तीनी जनता के साथ डटे रहने और अमरीका तथा उसकी साम्राज्यवादी नीतियों के मुक़ाबले में डटे रहने का है।

अंसारुल्लाह के नेता ने ज़ायोनी शासन के साथ संबंधों को सामान्य बनाने के लिए कुछ अरब देशों के प्रयासों की निंदा करते हुए इस कार्यवाही को एक बड़ा विश्वासघात क़रार दिया और कहा कि यमन का अंसारुल्लाह आंदोलन, अरब देशों के साथ अपने संबंध इस्लामी भाईचारे के आधार पर स्थापित करेगा।

सैयद अब्दुल मलिक बदरुद्दीन अलहूसी ने कर्बला के युद्ध को सत्य और असत्य, अन्याय और अत्याचार, स्वतंत्रता और दासता के बीच क़रार दिया और कहा कि कल का मामला वही आज का ही मामला है, समस्याएं यथावत बाक़ी हैं, विकल्प भी वही हैं और स्वभाविक सी बात है कि परिणाम और प्रभाव भी वही होंगे।




/129


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*