?>

आज़रबाइजान और आर्मेनिया एक साल के भीतर दूसरे युद्ध के लिए तैयार

आज़रबाइजान और आर्मेनिया एक साल के भीतर दूसरे युद्ध के लिए तैयार

आर्मेनिया और आज़रबाइजान नागोर्नो-कराबाख़ क्षेत्र पर दावे को लेकर एक बार युद्ध की तैयारी में जुट गए हैं।

हाल ही में मास्को में आयोजित हुए आर्मी एक्सपो 2021 के हवाले से आज़रबाइजान की मीडिया में कुछ ऐसी रिपोर्टें प्रकाशित हुई हैं, जिसमें दावा किया गया है कि दोनों देश संभावित युद्ध के मद्देनज़र अपनी अपनी सेनाओं को नए हथियारों से लैस करने में जुट गए हैं।

आज़रबाइजान ने मास्को मार्मी एक्सपो 2021 में अपने उप रक्षा मंत्री जनरल उस्मान ओव को भेजा था, हालांकि बाकू हथियारों और रक्षा उपकरणों के लिए काफ़ी हद तक तुर्की और इस्राईल पर निर्भर है।

आर्मेनिया की ओर से मास्को आर्मी एक्सपो में रक्षा मंत्री आरशाक कारापतियान ने भाग लिया और इस प्रदर्शनी के इतर रूस के साथ कई रक्षा समझौतों पर दस्तख़त किए।

रूस द्वारा आर्मेनिया को नए सिरे से हथियारों से लैस करने पर आज़रबाइजान ने कड़ी आपत्ति जताई है और इस देश के राष्ट्रपति इलहाम अली ओव ने कहा है कि रूस द्वारा आर्मेनिया को हथियारों की आपूर्ति का कोई तर्क नहीं है।

दूसरी ओर रूस के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया ज़ख़ारोवा ने अली ओव की चिंता को ख़ारिज करते हुए कहा है कि रूस क्षेत्र की सैन्य शक्ति में संतुलन की स्थापना करना चाहता है।

दोनों के देशों के बीच पिछले साल सितम्बर में भीषण लड़ाई छिड़ गई थी, जिसमें आज़रबाइजान क सेना ने कराबाख़ के बड़े हिस्से को आर्मेनिया के क़ब्ज़े से आज़ाद करा लिया था।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*