?>

आख़िरकार रूस ने पश्चिमी देशों को दे दी खुली धमकी, यूक्रेन की मदद करने वालों का हो जाएगा सफ़ाया!

आख़िरकार रूस ने पश्चिमी देशों को दे दी खुली धमकी, यूक्रेन की मदद करने वालों का हो जाएगा सफ़ाया!

रूसी राष्ट्रपति के निकट सहयोगी और रूस के पूर्व राष्ट्रपति मेदवेदेव ने चेतावनी दी है कि यूक्रेन में लड़ाई दुनिया को ख़तरनाक परमाणु विश्वयुद्ध के क़रीब धकेल रही है। रूस की सरकारी मीडिया कई बार यह कह चुकी है कि मॉस्को ब्रिटेन सहित पश्चिमी देशों के ख़िलाफ़ परमाणु मिसाइलों को भी लॉन्च कर सकता है।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, रूस यूक्रेन युद्ध में पश्चिमी देश भी अहम भूमिका निभा रहे हैं। भले ही वे सीधे तौर पर इसमें शामिल न हों लेकिन उनके द्वारा यूक्रेन को हथियारों से की जा रही मदद से रूसी सेना को यूक्रेन में अपने विशेष सैन्य ऑप्रेशन में कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है। इससे पहले रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतीन पश्चिम और नाटो को युद्ध से दूर रहने की धमकी दे चुके हैं। अब पुतीन के बेहद क़रीबी और रूस के पूर्व राष्ट्रपति मेदवेदेव ने धमकी दी है कि अगर यूक्रेन रूसी क्षेत्र पर हमला करने के लिए अमेरिकी रॉकेट सिस्टम का इस्तेमाल करता है तो मॉस्को पश्चिमी शहरों को निशाना बना सकता है। बता दें कि बीते दिनों अमेरिका ने कहा था कि वह यूक्रेन को एमआई 142 हाई मोबिलिटी आर्टिलरी रॉकेट सिस्टम देगा। इस रॉकेट सिस्टम की मारक क्षमता 80 किमी होगी जो अमेरिका की ओर से पहले दी गईं एम 777 तोपों की रेंज से क़रीब दोगुनी है। अमेरिका की इस घोषणा ने रूस की नाराज़गी को बढ़ा दिया है। पुतीन के अंडर में प्रधानमंत्री पद पर रह चुके रूस की नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल के डेप्युटी चेयरमैन दिमित्री मेदवेदेव ने कहा, 'भगवान न करे, अगर इन हथियारों का इस्तेमाल रूसी इलाक़ों के ख़िलाफ़ किया जाता है तो हमारे सशस्त्र बल उन केंद्रों पर हमला करने के लिए मजबूर हो जाएंगे जहां से यह फ़ैसले लिए जा रहे हैं।'

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतीन

अल जजीरा के साथ एक इंटरव्यू में रूसी राष्ट्रपति के निकट सहयोगी और रूस के पूर्व राष्ट्रपति मेदवेदेव ने कहा, 'यह समझने की ज़रूरत है कि इस मामलों में जिन केंद्रों से अंतिम फ़ैसले लिए जा रहे हैं वे दुर्भाग्य से कीएफ़ के क्षेत्र में स्थित नहीं हैं।' मॉस्को में अधिकारियों ने आरोप लगाया है कि नाटो यूक्रेन में युद्ध का इस्तेमाल रूस के ख़िलाफ़ छद्म युद्ध छेड़ने के लिए कर रहा है। ग़ौरतलब है कि मेदवेदेव 2008 से 2012 तक रूस के राष्ट्रपति भी रह चुके हैं। मेदवेदेव ने चेतावनी दी है कि यूक्रेन में लड़ाई दुनिया को ख़तरनाक परमाणु विश्वयुद्ध के क़रीब धकेल रही है। रूस की सरकारी मीडिया कई बार यह कह चुकी है कि मॉस्को ब्रिटेन सहित पश्चिमी देशों के ख़िलाफ़ परमाणु मिसाइलों को भी लॉन्च कर सकता है। रूस यूक्रेन युद्ध को 100 दिन पूरे हो चुके हैं। रूसी सैनिकों ने शनिवार को पूर्वी यूक्रेन के एक हिस्से में हवाई हमले किए। हमलों के दौरान पुलों और इमारतों को नष्ट कर दिया गया। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*