?>

अहमद मसऊद ने फिर तालेबान को ललकारा, पंजशेर अभी दूर है, आख़िरी बूंद तक लड़ेंगे, पाकिस्तान की क्या है भूमिका???

अहमद मसऊद ने फिर तालेबान को ललकारा, पंजशेर अभी दूर है, आख़िरी बूंद तक लड़ेंगे, पाकिस्तान की क्या है भूमिका???

नेशनल रेजिस्टेंस फोर्स के नेता अहमद मसऊद ने पंजशेर पर तालेबान के क़ब्ज़े के दावे को ख़ारिज कर दिया है।

मसऊद ने तालेबान के ख़िलाफ़ जंग जारी रहने पर बल देते हुए कहा कि हम अजेय हैं और तालेबान के ख़िलाफ़ आख़िरी बूंद तक हमारे लड़ाके जंग करेंगे।

मसऊद ने कहा कि मैं अपने खून की आखिरी बूंद तक तालेबान से लड़ता रहूंगा। उनका यह बयान तालेबान के दावे के कुछ घंटों के बाद ही आया है जिसमें उसने कहा था कि पंजशेर पर उसने क़ब्ज़ा कर लिया है।

फ़ेसबुक पेज पर जारी एक ऑडियो संदेश में मसऊद ने कहा कि हमारी फोर्सेज़ अब भी पंजशेर में मौजूद हैं और तालेबान के खिलाफ जंग जारी है।

उन्होंने अफ़ग़ानिस्तान के लोगों से भी तालेबान के ख़िलाफ जंग में साथ आने की अपील की थी। इससे पहले तालेबान लड़ाकों की ओर से पंजशेर घाटी के गवर्नर हाउस पर अपना झंडा फहराने का वीडियो सामने आया था। तालेबान का कहना है कि उसने पंजशेर पर क़ब्ज़ा कर लिया है अब लड़ाई को रोका नहीं जाएगा।

तालेबान के अनुसार अहमद मसऊद ने उनके सामने सीज़फ़ायर और समझौते का प्रस्ताव रखा था, जिसे उसने खारिज कर दिया है।

अहमद मसऊद ने पंजशेर की जंग में पाकिस्तान के भी शामिल होने का आरोप लगाया है। मसऊद ने कहा कि पाकिस्तान की ओर से तालेबान को पंजशेर में मदद की जा रही है और अंतर्राष्ट्रीय समुदाय मूकदर्शक बना हुआ है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की मदद से ही तालेबान ने उनके परिवार के सदस्यों की हत्या कर दी थी।

अहमद मसऊद ने कहा कि सभी देश पंजशेर में पाकिस्तान की संलिप्तता के बारे में जानते हैं, लेकिन चुप हैं। पाकिस्तान ने पंजशीर में सीधे तौर पर अफ़ग़ानियों पर हमला किया है।

उन्होंने कहा कि तालेबान तनिक भी बदला नहीं है, इसके बजाय वह और कट्टर, उत्पीड़न करने वाला, अतिवादी और हिंसक हो गया है। इससे पहले नेशनल रेजिस्टेंस फोर्स के फेसबुक पेज पर कहा गया था कि हमने दो प्यारे भाईयों और साथियों को खो दिया है। फ़ासिस्ट ग्रुप से लड़ते हुए फहीम दश्ती की मौत हो गई है, जो आमिर साहेब अहमद मसऊद के ऑफिस हेड थे। इसके अलावा जनरल साहिब अब्दुल वदूद ज़रेह की भी मौत हो गई है। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*