?>

अशरफ़ ग़नी अगर हाथ लग जाते तो तालेबान उनको नहीं छोड़तेः हम्दुल्लाह

अशरफ़ ग़नी अगर हाथ लग जाते तो तालेबान उनको नहीं छोड़तेः हम्दुल्लाह

अफ़ग़ानिस्तान की अशरफ़ ग़नी सरकार के राष्ट्रीय सुरक्षा विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया है कि पूर्व राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी अगर तालेबान के हाथ लग जाते तो उनका बचना संभव ही नहीं था।

हम्दुल्लाह मोहिब ने कहा कि अमरीका के विश्वस्त सूत्रों ने बताया था कि काबुल पर नियंत्रण स्थापित करने के बाद तालेबान, अशरफ़ ग़नी को पकड़कर फांसी देना चाहते थे।

उन्होंने कहा कि हालांकि अशरफ़ ग़नी के अफ़ग़ानिस्तान से भाग निकलने के बाद तालेबान ने कहा कि उनका एसा कोई इरादा नहीं था और वे अब भी वापस आ सकते हैं किंतु सही बात यह है कि तालेबान, ग़नी को बख़श्ने के पक्ष में नहीं थे।

हम्दुल्लाह के अनुसार अफ़ग़ानिस्तान के लिए अमरीका के विशेष दूत टाम्स वेस्ट और ज़लमेई ख़लीलज़ाद ने कहा था कि तालेबान तुम सबको मार सकते हैं इसलिए होशियार रहो।

अफ़ग़ानिस्तान की पूर्व सरकार के राष्ट्रीय सुरक्षा विभाग के इस वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस समय तो वे अमरीका में हैं किंतु अशरफ़ ग़नी के अफ़ग़ानिस्तान से चले जाने के बाद तीन महीनों तक वे उनके साथ थे।

हम्दुल्लाह मोहिब कहते हैं कि अशरफ़ ग़नी अब भी यूएई में मौजूद हैं।  उन्होंने कहा कि अवसर आने पर अशरफ़ ग़नी, अफ़ग़ानिस्तान की हालत के बारे में अपना दृष्टिकोण अवश्य बताएंगे।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*