?>

अल-अक़्सा मस्जिद की लैलतुल-क़द्र में 400,000 फिलिस्तीनियों की उपस्थिति

अल-अक़्सा मस्जिद की लैलतुल-क़द्र में 400,000 फिलिस्तीनियों की उपस्थिति

अंतर्राष्ट्रीय समूह-यरुशलम के प्रवेश द्वार पर इजरायल के बहुत नियंत्रण और सैकड़ों पुलिस बलों की तैनाती के बावजूद, हजारों फिलिस्तीनी नमाजियों ने अल-अक़्सा मस्जिद की लैलतुल-क़द्र में भाग लिया।

(ABNA24.com) अंतर्राष्ट्रीय समूह-यरुशलम के प्रवेश द्वार पर इजरायल के बहुत नियंत्रण और सैकड़ों पुलिस बलों की तैनाती के बावजूद, हजारों फिलिस्तीनी नमाजियों ने अल-अक़्सा मस्जिद की लैलतुल-क़द्र में भाग लिया।

फ़लस्तीनी अवक़ाफ़ संगठन और अल-अक़्सा मस्जिद माममलों के प्रमुख, शेख़ आज़म अल-ख़तीब ने कहाः कि 400,000 फ़िलिस्तीनी मुसलमानों ने कल 31 मई की रात में अल-अक़्सा मस्जिद की लैलतुल-क़द्र समारोह में (कि अहले सुन्नत इस को 27 रमज़ान की रात में मनाते हैं) भाग लिया।

उन्होंने यह भी कहा कि इज़रायल के सुरक्षा उपायों और यरूशलेम के प्रवेश द्वार पर सैकड़ों पुलिस की मौजूदगी के बावजूद बड़ी संख्या में फिलिस्तीनी उपासकों ने अल-अक़्सा मस्जिद में प्रवेश किया।

1967 में, अरब और इज़राइल के बीच युद्ध के दौरान, पूर्वी यरूशलेम जहां अल-क्यूसी मस्जिद स्थित थी पर कब्जा कर लिया और 1980 में, अंतरराष्ट्रीय विरोध के बावजूद पूरे यरूशलेम पर कब्जा कर लिया था।

बैतुल मुक़द्दस मक्का और मदीना के बाद तीसरा मुस्लिम पवित्र स्थान है, यहूदियों का यह भी दावा है कि यह स्थान उनके लिए पवित्र है, और जेरूसलम में दो महान यहूदी हस्तियों की कब्र है।




/129


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*