?>

अमेरिका और नैटो अफ़ग़ानिस्तान में अपना कोई भी लक्ष्य हासिल नहीं कर सके हैं" हामिद करज़ई

अमेरिका और नैटो अफ़ग़ानिस्तान में अपना कोई भी लक्ष्य हासिल नहीं कर सके हैं

अफ़ग़ानिस्तान की वर्तमान स्थिति इस देश में अमेरिका और नैटो की सैनिक विफलता का परिणाम है।

अफ़ग़ानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा है कि अमेरिका और नैटो अफ़ग़ानिस्तान में अपना कोई भी लक्ष्य प्राप्त नहीं कर सके हैं।

समाचार एजेन्सी इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार हामिद करज़ई ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान की वर्तमान स्थिति इस देश में अमेरिका और नैटो की सैनिक विफलता का परिणाम है। उन्होंने कहा कि अफ़ग़ान सुरक्षा बल देश की रक्षा के लिए तैयार हैं और अतीत में अमेरिका पाकिस्तान में आतंकवादियों के ठिकानों पर हमला करने के बजाये अफ़ग़ानिस्तान के गांवों पर बमबारी करता था और उसका यह कार्य आतंकवाद और अतिवाद से लड़ाई में वाशिंग्टन की विफलता का कारण बना है।

इसी प्रकार अफ़ग़ानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि अफ़ग़ानिस्तान आज एक विफल व नाकाम देश नहीं है क्योंकि इस देश के लोग संविधान संकलित करने, चुनाव आयोजित करने और डेमोक्रेटिक सरकार गठित करने में कामयाब हो गये।

ज्ञात रहे कि 11 सितंबर की घटना के बाद अमेरिका ने आतंकवाद से मुकाबले और अफगानिस्तान में शांति स्थापित करने के बहाने 20 साल पहले हमला किया था परंतु अफगानिस्तान से न केवल आतंकवाद का सफाया नहीं हुआ बल्कि आतंकवादी तत्वों की उपस्थिति में ध्यान योग्य वृद्धि के अलावा मादक पदार्थों की खेती और तस्करी में भी कई गुना की वृद्धि हो गयी है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*