?>

अमरीका को प्रतिबंध हटाने ही होंगे, परमाणु समझौते पर दोबारा वार्ता कभी नहीं होगीः ज़रीफ़ की दो टूक

अमरीका को प्रतिबंध हटाने ही होंगे, परमाणु समझौते पर दोबारा वार्ता कभी नहीं होगीः ज़रीफ़ की दो टूक

विदेश मंत्री ज़रीफ़ ने यूरोपीय संघ के विदेश मामलों के प्रभारी से मुलाक़ात में ईरान पर लगे अमरीका के सभी प्रतिबंधों को हटाए जाने और परमाणु समझौते पर दोबारा वार्ता की संभावना न होने पर बल देते हुए आशा जताई है कि वियना वार्ता परिणामदायक होगी।

मुहम्मद जवाद ज़रीफ़ ने शुक्रवार को अंतालिया डिपलोमेसी असेम्बली की बैठक के अवसर पर जोज़प बोरेल से मुलाक़ात की। इस मुलाक़ात में उन्होंने वियना में ईरान व गुट चार धन एक के बीच जारी वार्ता की अंतिम स्थिति की समीक्षा की और एक बार फिर अमरीकी प्रतिबंध हटाए जाने और परमाणु समझौते पर दोबारा वार्ता न करने के ईरान के रुख़ पर बल दिया। उन्होंने ट्रम्प के सत्ताकाल में अमरीका की वादा ख़िलाफ़ी के बारे में ईरानी जनता के कटु अनुभव की तरफ़ इशारा करते हुए आशा जताई कि इस समय वियना में जो वार्ता हो रही है, वह परिणामदायक सिद्ध होगी।

विदेश मंत्री ज़रीफ़ ने इसी तरह अफ़ग़ानिस्तान की मौजूदा स्थिति की भी समीक्षा की सरकार व राजनैतिक धड़ों के बीच पाए जाने वाले मतभेद को, अफ़ग़ानिस्तान में अशांति से निपटने में मुख्य बाधा बताया। इस मुलाक़ात में यूरोपीय संघ के विदेश मामलों के प्रभारी जोज़प बोरेल भी वियना वार्ता के सफल रहने की आशा जताते हुए मध्यपूर्व, अफ़ग़ानिस्तान, और लैटिन अमरीका के ताज़ा हालात का जायज़ा लिया। याद रहे कि ईरान के विदेश मंत्री अंतालिया डिपलोमेसी असेम्बली की बैठक में भाग लेने के लिए गुरुवार को तुर्की पहुंचे हैं। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*