?>

अमरीका की युद्ध भड़काने की नीति का शिकार हुआ यूक्रेनः वरिष्ठ नेता

अमरीका की युद्ध भड़काने की नीति का शिकार हुआ यूक्रेनः वरिष्ठ नेता

आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामेनेई के मंगलवार के संबोधन को बहुत से देशों के संचार माध्यमों में प्रमुखता दी जा रही है।

इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने बेसअत अर्थात पैग़म्बरे इस्लाम (स) की पैग़म्बरी की घोषणा की सालगिरह पर मंगलवार को पूरी दुनिया के मुसलमानों को बधाई दी।

आयतुल्लाहिल उज़्मा सैयद अली ख़ामेनेई के मंगलवार के टेलिविज़न संबोधन को अरब मीडिया और रूसी संचार माध्यमों में बहुत अधिक कवरेज दिया जा रहा है।

अपने संबोधन में इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता ने कहा था कि अमरीका, आधुनिक अज्ञानता का उदाहरण है।  उन्होंने कहा कि यह देश विश्व में संकट पैदा करता है और संकटों के माध्यम से अपना काम चलाता है।

वरिष्ठ नेता ने कहा कि यूक्रेन, अस्ल में अमरीका की संकट पैदा करने वाली नीति का शिकार हुआ है।  इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता के बयान को रूसी मीडिया में बहुत अधिक स्थान मिला।

रश्या टूडे ने वरिष्ठ नेता के बयान के हवाले से लिखा है कि अमरीका अगर विश्व में संकट पैदा न करे तो फिर उसकी हथियारों की कंपनियां ढंग से नहीं चल पाएंगी।

इस बारे में तास समाचार एजेन्सी ने भी रिपोर्ट तैयार की है जिसमें कहा गया है कि ईरान, विश्व में हर स्थान पर युद् और विध्वंसक कार्यवाहियों का विरोध करता है। अधिकांश रूसी संचार माध्यमों ने वरिष्ठ नेता के संबोधन को प्रमुखता दी है।  कुछ ने उनके इस वक्तव्य को हाईलाइट किया है कि यूक्रेन, अमरीका की संकट पैदा करने वाली नीति का लक्ष्य बना है।

इसी प्रकार अरबी भाषा के संचार माध्यमों में भी इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता के मंगलवार के टेलिविज़न संबोधन को बहुत प्रमुखता दी जा रही है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*