?>

अफ़ग़ानिस्तान से निकालना घुटने टेकना थाः ट्रंप

अफ़ग़ानिस्तान से निकालना घुटने टेकना थाः ट्रंप

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बाइडेन सरकार की नीतियों की तीव्र आलोचना की है।

समाचार एजेन्सी फार्स की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गुरूवार को पिछले वर्ष अमेरिका में होने वाले राष्ट्रपति चुनाव की वर्षगांठ पर एक वीडियो जारी किया और एक बार फिर उस चुनाव में धांधली की बात दोहराई और बल देकर कहा है कि वह दुःख देने वाला चुनाव था और उसके बाद जो घटनायें घटीं वह भी बहुत दुःखदायी हैं।

ट्रंप ने कहा कि सीमाओं को देखिये, अर्थव्यवस्था को देखिये, मंहगाई को देखिये, अफगानिस्तान में होने वाले खर्च की तरफ देखिये, बड़े दुःख की बात है। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी निष्कासन नहीं था बल्कि उन लोगों के मुकाबले में घुटने टेक देना था जिनके पास हथियार भी नहीं था।

उन्होंने कहा कि 85 अरब डॉलर डूब गया जो बड़े अफसोस की बात है। उन्होंने कहा कि अमेरिकी सैनिकों के अफगानिस्तान से निष्कासन के दौरान सैकड़ों लोग मारे गये। मुझे लगता है कि हमारे देश ने कभी भी इस प्रकार का दिन नहीं देखा है।

ट्रंप ने इस वीडियो में वर्ष 2020 में होने वाले चुनाव में एक बार फिर घपले की बात की और कहा कि आरीज़ोना में होने वाले चुनाव के बारे में विश्वस्त व ठोस रिपोर्टें इस बात की सूचक थीं कि चुनाव में अनियमितता हुई है।

ज्ञात रहे कि पिछले साल होने वाले चुनाव में डोनाल्ट ट्रंप ने आधारिक रूप से अपनी हार अभी तक नहीं स्वीकारी है।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*