?>

अफ़ग़ानिस्तान की महा क़बायली परिषद लोया जिर्गा की इस देश से अमरीकी सैनिकों के बाहर निकलने की समय सीमा तय तय होने की मांग

अफ़ग़ानिस्तान की महा क़बायली परिषद लोया जिर्गा की इस देश से अमरीकी सैनिकों के बाहर निकलने की समय सीमा तय तय होने की मांग

अफ़ग़ानिस्तान में महा क़बायली परिषद लोया जिर्गा ने इस देश से अमरीकी सैनिकों के बाहर निकलने की समयावधि तय होने की मांग की है।

लोया जिर्गा की कमेटियों ने इस देश से विदेशी सैनिकों ख़ास तौर पर अमरीकी सैनिकों के बाहर निकलने की समयावधि के तय होने की मांग की है।

लोया जिर्गा की 5 कमेटियों में से एक कमेटी की प्रमुख सफ़िया सिद्दीक़ी ने लोया जिर्गा की बैठक में इस बात का उल्लेख करते हुए कि अफ़ग़ान जनता अमरीकियों के बग़ैर अपना जीवन जी सकती है, कहा कि इस देश से अमरीकी सैनिकों के बाहर निकलने की समय सीमा तय होनी चाहिए।

लोया जिर्गा की एक और कमेटी के प्रमुख फ़ैज़ुल्लाह जलाल ने भी इस बैठक में कहा कि अमरीकी अफ़ग़ान जनता के लिए शांति नहीं ला सकते।

इसी तरह लोया जिर्गा की एक और कमेटी के प्रमुख अहमद सईदी ने शुक्रवार की बैठक में कहा कि तालेबान अमरीका की चापलूसी करने के बजाए अपनी शांति योजना अफ़ग़ान जनता को पेश करें और अफ़ग़ानिस्तान शांति मामले में अमरीका के प्रतिनिधि ज़लमाई ख़लीलज़ाद भी अफ़ग़ान जनता को शांति के बारे में सही रिपोर्ट पेश करें।

महा क़बायली परिषद लोया जिर्गा ने इसी तरह अफ़ग़ानिस्तान में विदेशी सैनिकों की मनमानी कार्यवाही व बमबारी के ख़त्म होने की ही मांग की।

अफ़ग़ानिस्तान में शांति के लिए महा क़बायली परिषद की विभिन्न कमेटियों के प्रमुखों की इस देश से अमरीकी सैनिकों के बाहर निकलने के लिए समय सीमा तय होने की मांग, वाइट हाउस की इच्छा और तालेबान के दावे के विपरीत, वीरता भरी मांग है।

अमरीका अपनी क्षेत्रीय रणनीति के तहत, अफ़ग़ानिस्तान में अपनी मौजूदगी को क्षेत्रीय देशों तक तुरंत पहुंच के लिए उचित समझता है इसलिए वह अफ़ग़ानिस्तान से निकलना नहीं चाहता और इस दावे के ज़रिए कि अफ़ग़ानिस्तान से उसके निकलने से सुरक्षा उपलब्धियां एकबार में बर्बाद हो जाएंगी, अफ़ग़ानियों की इस देश में अमरीकी सैनिकों की मौजूदगी के बने रहने के लिए सहमति हासिल करने की कोशिश में है।

तालेबान के, अफ़ग़ानिस्तान में विदेशी सैनिकों की मौजूदगी के बहाने अफ़ग़ान सरकार के साथ शांति वार्ता में शामिल न होने के मद्देनज़र, लोया जिर्गा में भाग लेने वालों का अफ़ग़ानिस्तान से अमरीकी सैनिकों के बाहर निकलने की समय सीमा निर्धारित करने का इरादा, अफ़ग़ान जनता की ओर से वाइट हाउस को यह संदेश है कि अमरीका के अफ़ग़ानिस्तान से निकलने से इस देश में शांति क़ायम होने की पृषठिभूमि मुहैया हो जाएगी।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*