?>

अपने वजूद को ख़तरे में डालने की हिमाक़त न करे इस्राईल, ईरानी सेना प्रमुख

अपने वजूद को ख़तरे में डालने की हिमाक़त न करे इस्राईल, ईरानी सेना प्रमुख

ईरानी सेना के प्रमुख का कहना है कि इस्राईल की ख़ाली धमकियां, तेल-अवीव के डर को दर्शाती हैं, लेकिन अगर उसने किसी भी तरह की कोई हिमाक़त करने की कोशिश की तो उसे मुंह तोड़ जवाब दिया जाएगा।

मेजर जनरल अब्दुल रहीम मूसवी का कहना था कि ज़ायोनी नेता की अनाप-शनाप बातें उनके भय को दर्शाती हैं, लेकिन अगर उन्होंने कुछ ग़लत करने की कोशिश की तो उनके अस्तित्व की समाप्ति और पहले ही हो जाएगी।

ग़ौरतलब है कि इस्राईल, वियना में परमाणु वार्ता शुरू होने से चिंतित है और उसने वार्ता को पटरी से उतारने के लिए धमकियों का सहारा लिया था।

ज़ायोनी शासन ने ईरान के परमाणु संयंत्रों पर हमला करने की भी धमकी दी थी।

पिछले महीने तेहरान ने ईरानी परमाणु संयंत्रों पर संभावित हमले के लिए इस्राईल द्वारा बजट विशेष किए जाने की रिपोर्टों को ख़ारिज कर दिया था और चेतावनी दी थी कि ज़ायोनी शासन को तेहरान की चौंकाने वाली प्रतिक्रिया के बाद मरम्मत पर ख़र्च होने वाली भारी लागत पर विचार करना चाहिए।

जनरल मूसवी का कहना था कि ईरानी सशस्त्र बलों द्वारा की गई प्रगति ने विश्व स्तर पर साम्राज्यवादी ताक़तों के अंहकार को चकनाचूर कर दिया है, जिसका उदाहरण हाल ही में उनके नेता द्वारा दिया गया वह बयान है, जिसमें उन्होंने कहा था कि ईरान के ख़िलाफ़ कार्यवाही का कोई फ़ायदा नहीं है, क्योंकि हम उसकी प्रगति को अब नहीं सकते। 


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*