?>

अगर वादों को पूरा करने पर आधारित वार्ता हो तो ईरान उस वार्ता का स्वागत करता हैः अब्दुल्लाहियान

अगर वादों को पूरा करने पर आधारित वार्ता हो तो ईरान उस वार्ता का स्वागत करता हैः अब्दुल्लाहियान

ईरान का कहना है कि वह उस वार्ता का स्वागत करता है जो सभी दायित्वों के पालन से जुड़ी हुई हो।

ईरान के संसद सभापति के विशेष सलाहकार ने जापान के विदेशमंत्री के साथ भेंट में कहा कि तेहरान, सारे दायित्वों से जुड़ी हुई वार्ता का स्वागत करता है।

हुसैन अब्दुल्लाहियान ने सोमवार को तेहरान में जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सो मोटेगी से मुलाक़ात की।  इस मुलाक़ता में अब्दुल्लाहियान ने कहा कि ईरान तथा जापान के बीच सहकारिता एवं सहयोग इतनी बड़ी पूंजी है कि जिससे दोनो पक्षों के बीच मैत्रीपूर्ण संबन्धों को विस्तृत करने में सहायता मिलेगी।

उन्होंने बताया कि देश की नई सरकार एशियन देशों के साथ आर्थिक संबन्धों को बढ़ाने के पक्ष में है।  हुसैन अब्दुल्लाहियान का कहना था कि वर्तमान समय में ईरान तथा जापान के बीच सहयोग का स्तर, विशेषकर आर्थिक क्षेत्र में, दोनो देशों की क्षमताओं के अनुरूप नहीं है।  उन्होंने आशा व्यक्त की है कि नई पहल और प्रयासों से हम परस्पर आदान-प्रदान के स्तर को बहुत आगे ले जाएंगे।

इस भेंटवार्ता में जापान के विदेशमंत्री ने कहा कि पश्चिमी एशिया के एक महत्वपूर्ण देश के रूप में इस्लामी गणतंत्र ईरान के साथ सहयोग में विस्तार, जापानी अधिकारियों के लिए विशेष महत्व रखता है।  अब्दुल्लाहियान और जापानी विदेशमंत्री के बीच हुई वार्ता में जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सो मोटेगी ने क्षेत्रीय समस्याओं के समाधान में ईरान की भूमिका की प्रशंसा की विशेषकर कई वर्षों से अफ़ग़ानी पलायनकरताओं को शरण देना।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*