बहरैन की जेलों में बंद राजनीतिक क़ैदियों पर ढ़ाए जा रहे हैं अत्याचार।

  • News Code : 771166
  • Source : अबना
Brief

बहरैन के राजनीतिक नेता हैदर अल-मूसवी ने बुधवार को फ़ार्स समाचार एजेंसी से बातचीत करते हुए कहा कि आले ख़लीफा के किराए के ग़ुंडे जो जॉर्डन और पाकिस्तान से बुलाए गए हैं, जेलों में बंद राजनीतिक कैदियों को बुरी तरह यातनाएं पहुंचाते हैं और उन्हें मारते पीटते हैं

अहलेबैत न्यूज़ ऐजेंसी अबना: बहरैन के राजनीतिक नेता हैदर अल-मूसवी ने बुधवार को फ़ार्स समाचार एजेंसी से बातचीत करते हुए कहा कि आले ख़लीफा के किराए के ग़ुंडे जो जॉर्डन और पाकिस्तान से बुलाए गए हैं, जेलों में बंद राजनीतिक कैदियों को बुरी तरह यातनाएं पहुंचाते हैं और उन्हें मारते पीटते हैं।
बहरैन के मानवाधिकार संगठन के एक कार्यकर्ता इब्तिसाम अल-साईग ने भी कहा है कि आले ख़लीफा के वहाबी ग़ुंडों के हाथों राजनीतिक कैदियों को दी जाने वाली यातनाओं के परिणाम स्वरूप हौज़ुल जाफ़ जेल के एक राजनीतिक कैदी को अस्पताल स्थानांतरित करना पड़ा है। कुछ दिन पहले एक राजनीतिक कैदी हसन अलहाएकी जेल में आले ख़लीफा सरकार के गुर्गों की बर्बरता के नतीजे में शहीद हो गए थे।
बहरैन के मानवाधिकार कार्यकर्ता इब्तिसाम अलसाईग़ ने कहा कि जेलों में बंद राजनीतिक कैदी सही और स्वस्थ जेल से बाहर निकलने से निराश हो चुके हैं और उन्हें ज़िंदा बचने की अब कोई उम्मीद नहीं है। बहरैन के लोकतंत्र और मानवाधिकार नामक संगठन ने भी अपनी ताज़ा रिपोर्ट में कहा था कि मनामा के पास स्थित अलमोहरिक़ जेल में जो जार्डनी ग़ुंडों के अधिकार में है, राजनीतिक कैदियों को बुरी तरह मारा पीटा जा रहा है और यह मानवाधिकारों का खुला उल्लंघन है।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

conference-abu-talib
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky