लीबिया में दाइश द्वारा अग़वा किए गए दो भारतीय प्रोफेसर आज़ाद।

  • News Code : 779253
  • Source : तेहरान रेडियो
Brief

भारत की विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज ने लीबिया में दो भारतीय प्रोफेसरों की रिहाई की सूचना दी है। सुष्मा स्वराज ने भारत के दक्षिणी राज्यों आंध्र प्रदेश और तेलंगाना से संबंध रखने वाले इन दोनों प्रोफेसरों के परिजनों को उनकी रिहाई की आधिकारिक तौर पर सूचना दी है।

लीबिया में तकफ़ीरी आतंकवादी गुट दाइश के हाथों अग़वा किए गए दो भारतीय प्रोफेसरों को आज़ाद करा लिया गया है।
भारत की विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज ने लीबिया में दो भारतीय प्रोफेसरों की रिहाई की सूचना दी है। सुष्मा स्वराज ने भारत के दक्षिणी राज्यों आंध्र प्रदेश और तेलंगाना से संबंध रखने वाले इन दोनों प्रोफेसरों के परिजनों को उनकी रिहाई की आधिकारिक तौर पर सूचना दी है।
भारतीय विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा कि "मुझे आपको बताते हुए यह ख़ुशी हो रही है कि लीबिया में 29 जुलाई 2015 से अपहृत आंध्र प्रदेश के टी गोपाल कृष्णा और तेलंगाना के बलराम किशन को आज़ाद करा लिया गया है"।
याद रहे कि भारत के यह दोनों प्रोफेसर लीबिया के सेर्त शहर के विश्वविद्यालय में पढ़ाते थे और 29 जुलाई 2015 को जब यह दोनों भारत लौटने के लिए सिरत से त्रिपोली हवाई अड्डे की ओर जा रहे थे तभी दाइश के आतंकवादियों ने उन्हें रास्ते से अग़वा कर लिया था।
रिहा होने वाले एक प्रोफेसर गोपाल कृष्णा की पत्नी ने भी बताया है कि उनके पति ने बुधवार की रात उनसे फोन पर संपर्क किया और बताया कि वह अब आतंकियों के चंगुल में नहीं हैं। दोनों प्रोफेसरों के परिवार वालों ने दाइश के चंगुल से आज़ाद कराने के अथक प्रयास के लिए भारत सरकार का धन्यवाद किया है।
दाइश के चंगुल से रिहा हुए प्रोफेसरों का कहना है कि अब उन्हें यह नहीं बताया गया है कि वे लोग कब भारत वापस पहुंचेंगे। ज्ञात रहे कि 29 जुलाई 2015 को दाइश के आतंकवादियों ने लीबिया में एक साथ 4 भारतीय नागरिकों का अपहरण किया था जिनमें से 2 को कुछ ही समय बाद रिहा कर दिया था।


सम्बंधित लेख

अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Arba'een
आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky