आईएसआईएल और अलक़ाएदा में ठनी

  • News Code : 653420
  • Source : एरिब.आई आर
Brief

यमन में अलक़ाएदा संगठन ने आईएसआईएल की आलोचना करते हुए कहा है कि अबू बक्र बग़दादी स्थापित शासन ग़ैर क़ानूनी है।

यमन में अलक़ाएदा संगठन ने आईएसआईएल की आलोचना करते हुए कहा है कि अबू बक्र बग़दादी स्थापित शासन ग़ैर क़ानूनी है।
यमन में सक्रिय अलक़ाएदा ने एक वीडियो जारी करते हुए कहा है कि अबू बक्र बग़दादी की ओर से अन्य देशों में लड़ाकों को आईएसआईएल से जुड़ने के लिए दिया जाने वाला निमंत्रण अस्वीकार्य है।  यह बयान मिस्र और लीबिया के चरमपंथी संगठनों की ओर से आईएसआईएल के समर्थन की घोषणा के एक हफ़्ते बाद आया है। याद रहे कि पाकिस्तान में भी अलक़ाएदा और आईएसआईएल के समर्थकों में विवाद उत्पन्न हो जाने की सूचनाएं मिली हैं।
बताया जाता है कि अलक़ाएदा और आईएसआईएल के बीच इस बात पर सहमति थी कि यमन में अलक़ाएदा आईएसआईएल से स्वतत्र रह कर कार्यवाही करेगा किन्तु अब अबू बक्र बग़दादी की ओर से दिए गए निमंत्रण को यमन में सक्रिय अलक़ाएदा संगठन संदेह की दृष्टि से देख रहा है।
यमन के अलक़ाएदा संगठन के नेता हारिस बिन ग़ाज़ी अन्नज़ारी ने वीडियो संदेश में कहा है कि हम इस समय सीरिया में जारी आपसी विवाद की बात नहीं करना चाहते किन्तु आईएसआईएल ने ऐसे अनेक क़दम उठाए हैं जिनसे हम आश्चर्यचकित रह गए। इनमें इस्लामी शासन की स्थापना की घोषणा तथा अन्य देशों के लड़ाकों को दिया जाने वाला निमंत्रण शामिल है। उन्होंने कहा कि आईएसआईएल की घोषणा अन्य सहयोगी संगठनों के परामर्श से नहीं की गयी है।
इस बीच एक अन्य रिपोर्ट के अनुसार यमन में दक्षिण-पश्चिमी क़स्बे रदा में जनता ने इस स्ट्रेटिजिक इलाक़े पर हौसी मिलिशिया के नियंत्रण हो जाने के बाद स्थापित शांति पर संतोष जताया है।
रदा क़स्बे के एक नागरिक ने कहा, “ ईश्वर की कृपा से हर जगह सुरक्षा स्थापित है और सुरक्षा व स्थिरता के लिए ख़तरा अलक़ाएदा के आतंकवादियों के सफ़ाए के बाद हर एक सामान्य ज़िन्दगी गुज़ार रहा है।” रदा क़स्बे से अलक़ाएदा के आतंकवाद मआरिब शहर के नज़दीक यकला इलाक़े की ओर फ़रार कर गए हैं।


अपना कमेंट भेजें

आपका ईमेल शो नहीं किया जायेगा. आवश्यक फ़ील्ड पर * का निशान लगा है

*

Arba'een
आशूरा: सृष्टि का राज़
सुप्रीम लीडर आयतुल्लाह ख़ामेनई का हज संदेश
We are All Zakzaky